भारत के स्टार बल्लेबाज युवराज सिंह अब ऑस्ट्रेलिया में टी ट्वेन्टी लीग खेलते नजर आ सकते है

Spread the love

बिग बेस लीग के 10वे सीजन का आयोजन 3 दिसम्बर से होगा।जिसका फाइनल मुकाबला 6 फरवरी को खेला जाएगा।इस लीग में दुनिया भर के खिलाड़ी खेलते हुए नजर आते है।लेकिन इस लीग में अभी तक कोई भी भारतीय खिलाड़ी खेलता हुआ नजर नहीं आया है।
लेकिन अब बिग बेस के 10वे सीज़न में भारत के स्टार बल्लेबाज सिक्सर किंग्स के नाम से मशहूर युवराज सिंह ने बिग बेस लीग में खेलने की इच्छा जताई है। युवराज सिंह बहुत जल्द इस बात का ऐलान भी कर सकते है।युवराज सिंह इससे पहले भी विदेशी लीग खेल चुके है।युवराज सिंह ने 2019 में ग्लोबल टी 20 कनाडा में हिस्सा लिया था।इसी के साथ युवराज सिंह विदेशी लीग में खेलने वाले पहले भारतीय खिलाडी भी बन गए थे।2017 में इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कहने के बाद युवराज सिंह ने आईपीएल में पंजाब और मुंबई इंडियन्स के लिए आईपीएल खेला उसके बाद 2019 में युवराज ने आईपीएल से भी संन्यास का ऐलान कर दिया था

इसे भी पढ़े: BCCI ने किया IPL 2020 का शेड्यूल जारी, MI और CSK के बीच होगा पहला मुकाबला

किन शर्त पर भारतीय खिलाड़ी खेल सकता है विदेशी लीग
अगर कोई भारतीय खिलाडी विदेशी लीग में खेलना चाहता है है तो उसे भारतीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेना होगा। जिसमें आईपीएल से लेकर सभी इंटरनेशलन और घरेलू क्रिकेट भी शामिल है। और युवराज सिंह 2019 में सभी फॉर्मेट से संन्यास ले चुके है। साथ ही आपको बता दे 2013 में सचिन तेंडुलकर भी बिग बेस का हिस्सा हो सकते थे उन्होंने 2013 में सन्यास लिया था।जिसके बाद उन्हें बिग बेस की टीम सिडनी थंडर ने अपनी टीम से खेलने का ऑफर दिया था।मगर सचिन तेंडुलकर ने बिग बेस लीग खेलने से मना कर दिया।

इसे भी पढ़े: दुनियां के सबसे धनी क्रिकेटरों में भारतीयों का बोलबाला, जानिए टॉप 10 अमीर खिलाड़ियों के नाम

यह भारतीय खिलाड़ी भी खेल चुके है विदेशी लीग।
वैसे भारतीय क्रिकेट बोर्ड अपने एक्टिव खिलाडियों को विदेशी लीग खेंलने नहीं देता है।लेकिन जब खिलाड़ी सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लेता है ।तब वह विदेशी लीग खेल सकता है।अभी भारत कि और से प्रवीण तांबे , जहीर खान,वीरेन्द्र सहवाग और मनप्रीत गोंनी विदेशी लीग का हिस्सा रहे चुके है। वहीं हाल ही में इरफान पठान ने भी विदेशी लीग खेलने कि इच्छा जताई है । वह इस साल श्रीलंका में होने वाली SPL (श्रीलंका प्रीमियर लीग) का हिस्सा बन सकता है ।