उत्तराखण्ड: त्रिवेंद्र सरकार ने अनलॉक-3 के लिए जारी की नई गाइडलाइंस, अब मिलेगी ये छूट

Spread the love

इस समय उत्तराखण्ड में अनलॉक 3 के तहत कई तरह की पाबंदियों से छूट दी गई है। लेकिन इसी बीच अब उत्तराखण्ड सरकार अनलॉक 3 के लिए नई एसओपी (SOP) जारी कर दी है। इसके अन्तर्गत सरकार ने कंपनियों व उद्योगों या संस्थानों को राहत देते हुए कुछ नियम जारी किए हैं। इसमें सबसे खास बात यह है कि अब किसी कंपनी, उद्योग या संस्थान के कुछ कर्मी संक्रमित पाए जाते हैं, तो कंपनी को बंद नहीं करना होगा। वहीं यदि संक्रमण अधिक संख्या में पाया जाता है, तो भी परिसर को केवल दो दिन के लिए बंद किया जाएगा। इन दो दिनों में परिसर को पूरी तरह संक्रमण मुक्त कर दिया जाएगा। इस एसओपी का पालन कराने की जिम्मेदारी जिला अधिकारी को दी गई है। वहीं उद्योगों और कंपनियों को अपने स्तर पर लाइजन अधिकारी नियुक्त करने होंगे।

इसे भी पढ़े: बाढ़ में पूरा घर हुआ तबाह-किताबें भी बही, तो सोनू सूद बोले ‘अब आंसू पोंछ लें बहन

कंटेनमेंट जोन को नहीं मिलेगी रिहायत

सरकार द्वारा नई एसओपी में साफ कर दिया गया है कि एसओपी में मिली रिहायतें कंटेनमेंट जोन के लिए नहीं होंगी। किस संस्थान के कौन से कर्मचारी केंटेनमेंट जोन में रह रहे हैं, इसका फैसला लाइजन अधिकारी करेंगे। ऐसी स्थिति में जिला प्रशासन की ओर से अग्रिम आदेश न आने तक ये कर्मचारी ऑफिस नहीं आ सकेंगे। इन्हें घर से ही काम करने की अनुमति दी जाएगी।

इन कर्मियों के प्रति अतिरिक्त सावधानी

वहीं प्रशासन द्वारा किसी बीमारी से पीड़ित, वृद्ध, गर्भवती महिलाओं आदि के प्रति अतिरिक्त सावधानी बरतनी का आदेश दिया गया है। प्रशासन को प्रयास करना होगा कि इन लोगों को घर से ही काम करने की अनुमति मिल सके। इन्हें फ्रंटलाइन काम में नहीं लाया जाएगा।

इसे भी पढ़े: उत्तराखण्ड में संक्रमित 13 हजार के पार, केवल 4 जिलों में हैं प्रदेश के 10 हजार से अधिक केस

जिला प्रशासन की होगी ये जिम्मेदारी

  • एसओपी के नियमों का पालन कराने की तथा कंपनियों व उद्योगों को अबाध रूप से चलने देने की जिम्मेदारी जिला अधिकारी को सौंपी गई है।
  • जिला अधिकारी को अपने स्तर पर जिले के किसी वरिष्ठ अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त करना होगा।
  • जिले में सीएमओ को स्वास्थ्य नोडल अधिकारी नियुक्त करना होगा।
  • इसी तरह नगर निगम, नगर पालिका और नगर पंचायत में भी सहायक नोडल अधिकारी नियुक्त करना होगा।

अन्य जरूरी नियम

  • कंपनी या उद्योगों में सभी कर्मियों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
  • सभी की थर्मल स्क्रीनिंग करनी होगी।
  • सभी को आरोग्य सेतु एप स्तेमाल करना होगा।
  • कंपनी या उद्योगों को सेनिटाइज करके रखना होगा।
  • बायोमेट्रिक द्वारा हाजिरी नहीं लगेगी। आईडी कार्ड से हाजिरी पर कोई प्रतिबंध नहीं।
  • कार्यस्थल से सबंधित वाहनों को हर चक्कर से पहले संक्रमण मुक्त करना होगा।
  • चालक और परिचालक की नियमित रूप से जांच की जाएगी।
  • कर्मियों को एक डेस्क से दूसरी डेस्क पर जाने की अनुमति नहीं होगी। मोबाइल व इंटरकॉम आदि का प्रयोग भी नहीं किया जाएगा।
  • कार्यस्थल परिसर में पान मसाला, गुटका, तंबाकू का सेवन पर भी प्रतिबंध होगा।
  • जहां तक हो सके दरवाजे खुले रखे जाएंगे।