उत्तराखंड : स्कूल खुलने के पहले दिन ही स्कूल में मिला कोरोना पॉजिटिव छात्र, स्कूल में मचा हाहाकार

Spread the love

उत्तराखंड में 7 महीने से बन्द स्कूल को खोलने के लिए सरकार ने अनुमति दे दी है। उत्तराखंड में 2 नवम्बर को 10वी और कक्षा के छात्र छात्राओं के लिए स्कूल खोले गए। पहले दिन ज्यादा संख्या में छात्र स्कूल नहीं पहुंचे। स्कूलों में कोरोना वायरस से संबंधित सभी दिशानिर्देशों का पालन किया गया। बच्चो की थर्मल स्कैनिंग कराने के बाद ही स्कूल में जाने की अनुमति दी गई। 7 महीने के बाद स्कूल खुलने पर छात्र छात्राओं के साथ अध्यापकों में भी उत्साह देखा गया।

इसे भी पढ़े: IPL 2020 की सबसे अनलकी टीम साबित हुईं किंग्स इलेवन पंजाब, जाने कैसे

स्कूल खुलने के पहले दिन ही स्कूल पहुंचा कोरोना पॉजिटिव छात्र

उत्तराखंड में 2 नवम्बर को स्कूल खोले गए। और पहले ही दिन स्कूल पहुंचा कोरोना पॉजिटिव छात्र। अल्मोड़ा जिले के रानीखेत के इंटर कॉलेज में स्कूल खुलने के पहले ही दिन एक छात्र कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। जिसके बाद स्कूल प्रबन्धक ,शिक्षा विभाग और स्वास्थ्य मंत्रालय में हाहाकार मच गया। जिसके बाद स्कूल को सील कर दिया गया। वहीं छात्र के संपर्क में आए लोगो को आइसोलेशन में रहने और कोरोना वायरस टेस्ट कराने के निर्देश दिए गए। स्कूल के प्रधानाचार्य ने बताया कि स्कूल परिसर में सभी छात्रों के साथ संक्रमित छात्र की भी थर्मल स्कैनिंग की गई थी जिसमे उसका तापमान सामान्य पाया गया था।

इसे भी पढ़े: यहां देखे अनलॉक 6.0 की पूरी गाइडलाइन

कोरोना महामारी की वजह से स्कूलो में कई नए नियम लागू किए गए हैं

  • स्कूल जाने के इच्छुक छात्रों को अपने अभिभावकों से लिखित अनुमति लेनी होगी।
  • जो बच्चे स्कूल नहीं आ पाएंगे, उनके लिए ऑनलाइन क्लास जारी रहेगी।
  • खेलकूद और मनोरंजन संबंधी गतिविधियां नहीं होंगी।
  • प्रार्थना क्लास रूम में ही की जाएगी।
  • सभी छात्रों के बीच 6-6 फीट की दूरी होनी चाहिए।
  • सभी छात्रों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा।
  • स्कूलों को सबसे पहले सनेटाइज करना जरूरी होगा।
  • सभी छात्रों को थोड़ी देर बाद साबुन से हाथ धोना पड़ेगा।