उत्तराखण्ड का ये जिला बन गया है कोरोना का गढ़, आंकड़ों पर डालिए एक नजर !

Spread the love

उत्तराखण्ड में अब संक्रमण की रफ्तार एक महीने पहले के मुकाबले कई गुना अधिक हो गई है। अब आंकड़े ऐसी स्थिति में आ गए हैं कि यदि प्रशासन और जनता अभी भी सतर्क न हुए, तो दिल्ली फिर ज्यादा दूर नहीं। हालांकि इस एक महीने के अंतराल में राज्य में संक्रमण सिर्फ 4 जिलों में अधिक देखा गया। ये जिले देहरादून, हरिद्वार, ऊधम सिंह नगर और नैनीताल हैं। लेकिन इन चारों जिलों में भी सबसे अधिक डराने वाले आंकड़े हरिद्वार के हैं।

एक महीने पहले, यानी 10 जुलाई को उत्तराखंड में 3373 संक्रमित थे। जिनमें से केवल 592 मरीज ही एक्टिव थे। लेकिन 9 अगस्त तक ये कुल मरीजों का आंकड़ा करीब 3 गुना बढ़कर 9632 हो गया है। वहीं एक्टिव मरीजों की संख्या भी 4 गुना से अधिक बढ़कर 3334 हो गए हैं। इसके अलावा मौतों का आंकड़ा भी 46 से बढ़कर 125 हो गया है।

ये भी पढ़े: कोरोना रोकथाम के लिए उत्तराखण्ड सरकार के कदम, करना होगा इन नियमों का पालन

1 महीने में कहां बढ़ा सबसे अधिक खतरा?

यदि पिछले एक महीने में जिलों के आंकड़ों की बात की जाए, तो इस मामले हरिद्वार ने सभी को पीछे छोड़ दिया है। इस एक महीन में सबसे अधिक संक्रमण हरिद्वार में फैला है। हरिद्वार में इस दौरान 1767 कोरोना मरीजों की वृद्धि हुई। वहीं दूसरे नंबर पर ऊधम सिंह नगर रहा। यहां एक महीने में 1321 संक्रमित सामने आए। जबकि देहरादून में 1215 संक्रमितों की पुष्टि हुई। पिछले एक महीने में 943 नए मरीजों के साथ नैनीताल चौथे नंबर पर रहा।

यहां देखें राज्य में संक्रमितों के ताजा आंकड़े

देहरादून और हरिद्वार में से कहां अधिक खतरा?

प्रदेश में सबसे अधिक कोरोना मामलों की सूची में शुरुवात से ही देहरादून सबसे ऊपर था। लेकिन अब इस मामले में हरिद्वार ने देहरादून को पीछे छोड़ दिया है। दरअसल रविवार को हरिद्वार में 171 कोरोना मामले सामने आने के बाद कुल संक्रमित 2111 हो गए है। जबकि 2031 संक्रमितों के साथ देहरादून दूसरे नंबर है। पिछले एक हफ्ते की बात करें तो देहरादून में 294 कोरोना पॉजिटिव मिले। वहीं हरिद्वार में इस एक हफ्ते में 625 केस सामने आए। लेकिन संक्रमण का खतरा देहरादून में अधिक है। क्योंकि राज्य में कुल 125 संक्रमितों की मौत हो चुकी हैं। जिनमें से 75 मौतें देहरादून में हुई हैं। जो कि कुल मौतों का 60 प्रतिशत होता है।

ये भी पढ़े: कोरोना संकट के बीच रूस से आई बड़ी खबर, वैक्सीन सभी परीक्षण में पास

उत्तराखंड में कोरोना का गढ़

हरिद्वार संक्रमण में मामले में अब देहरादून से आगे निकल गया है। यहां अधिक जनसंख्या होने के कारण भी संक्रमण का खतरा सबसे अधिक है। इसकी रोकथाम के लिए हरिद्वार में 371 इलाकों को सील भी किया गया है। लेकिन इसके बावजूद भी यहां संक्रमण पर काबू नहीं हो पा रहा है। ऐसे में प्रशासन द्वारा संक्रमण की रोकथाम के लिए किए गए कार्यों पर सवाल उठना लाजमी है। समय आ गया है कि अब प्रशासन को नियमों का कठोरता से पालन करवाना होगा। जिससे फिर से सभी की जिंदगी पटरी पर लौट सके।