उत्तराखंड : कोरोनाकाल में 40 लाख लोगो को 3 महीने तक मिलेगा 20, किलो राशन, पढ़े पूरी खबर

Spread the love

उत्तराखंड में कोरोनाकाल के बीच सरकार ने जनता को राहत देने का कार्य किया है। बीते 16 अप्रैल को कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत की अध्यक्षता में खाद्यान्न वितरण और सस्ता गल्ला विक्रेताओं के साथ हुई थी। बैठक में तय किया गया था कि उत्तराखंड में अब हर राशन कार्ड पर साढ़े सात किलो के बजाए 20 किलो खाद्यान्न मिलेगा। इसमें 10 किलो गेहूं एवं 10 किलो चावल इसी महीने से उपलब्ध होगा। वहीं, चीनी भी अब 800 ग्राम के बजाए दो किलो मिलेगी।

 

40 लाख लोगो को मिलेगा 20 20 किलो राशन

राज्य खाद्य योजना के तहत करीब 10 लाख राशनकार्डधारकों, यानी करीब 40 लाख व्यक्तियों को ज्यादा सस्ता खाद्यान्न दिया जाएगा। खाद्य सचिव सुशील कुमार ने बताया कि सीएम के निर्देश के बाद इस संबंध में बुधवार को आदेश जारी किए गए हैं। इस योजना के तहत उपभोक्ताओं को साढ़े सात किलो खाद्यान्न हर महीने मुहैया कराया जाता है। इसमें पांच किलो गेहूं और 2.5 किलो चावल है। गेहूं 8.60 रुपये प्रति किलो और चावल 11 रुपये प्रति किलो की दर से दिया जाता है।

मुख्यमंत्री स्तर से आदेश हुआ जारी

मुख्यमंत्री स्तर से इसके आदेश जारी हो गए हैं। इसी के तहत सरकार द्वारा 1 अप्रैल से 15 मई तक गेहूं खरीदने की तिथि तय की थी, लेकिन कोरोना के चलते किसानों का गेहूं बचा रह गया है। अब गेहूं खरीद की तारीख को बढ़ाकर 25 मई तक कर दिया है। दरअसल, किसानों की मांग को देखते हुए लालकुआं विधायक नवीन दुमका ने खाद्य मंत्री बंशीधर भगत से तिथि बढ़ाने का अनुरोध किया था। इसका तत्काल संज्ञान लेते हुए बंशीधर भगत ने खाद्य सचिव को निर्देशित किया है कि गेहूं खरीद की तिथि को बढ़ाकर 25 तारीख तक कर दिया जाए। भगत ने बताया कि पिछली बैठक में लिए गए निर्णय के अनुसार कोऑपरेटिव सोसाइटी का पिछले 3 साल से लेबर एवं ढुलाई का जो पैसा बकाया था, उसमें 18 करोड़ रुपये भी इसी सप्ताह जारी कर दिए जाएंगे।