उत्तराखण्ड में संक्रमितों की संख्या 2725 पहुंची, अब राज्य में टेस्टिंग बढ़ाने के लिए लगाई जा रही ट्रू-नेट मशीनें

Lakshyadweep
Spread the love

उत्तराखण्ड में कोरोना वायरस का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। शुक्रवार को राज्य में 34 नए मरीज सामने आने के बाद संक्रमितों की संख्या 2700 पार हो गई है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी बुलेटिन के अनुसार शुक्रवार को मिले नए संक्रमितों में से सबसे अधिक 14 मामले नैनीताल में सामने आए। इसके अलावा ऊधम सिंह नगर में 13, देहरादून में 4, चमोली में दो और चंपावत में एक संक्रमित मिला। इसके साथ ही प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 2725 हो गई है। वहीं प्रदेश में अभी एक 1822 कोरोना मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं। जबकि 37 मरीज कोरोना के कारण जान गंवा बैठे हैं। फिलहाल राज्य में 848 एक्टिव केस हैं।

इसे भी पढ़े: बिहार और उत्तर प्रदेश में बिजली गिरने से 100 से ज्यादा लोगों की मौत, भारी बारिश का अलर्ट जारी

देखिए संक्रमितों की जिलेवार सूची

देहरादून – 659
नैनीताल – 425
टिहरी गढ़वाल – 410
हरिद्वार – 313
ऊधम सिंह नगर – 228
अल्मोड़ा – 165
पौड़ी गढ़वाल – 140
बागेश्वर – 74
चमोली – 69
पिथौरागढ़ – 65
उत्तरकाशी – 63
रुद्रप्रयाग – 62
चंपावत – 52

104 दिन में 55 हजार टेस्टिंग

पिछले कुछ समय से राज्य में संक्रमण काफी तेजी से फैला है। इसका बड़ा कारण है कि पिछले कुछ समय से राज्य में टेस्टिंग भी बढ़ी है। राज्य में 15 मार्च को पहला संक्रमित पाया गया था। इन 104 दिनों के भीतर प्रदेश में कुल 55 हजार टेस्टिंग की जा चुकी हैं। सवा करोड़ आबादी वाले इस राज्य में प्रति लाख पर 440 सैंपलों की जांच हो रही है। जो राष्ट्रीय औसत से करीब 17 फीसदी कम है। लेकिन अब जांच में और तेजी के लिए उत्तराखण्ड सरकार द्वारा हर जिले में ट्रू नेट मशीनें स्थापित की जा रही हैं।

इसे भी पढ़े: कोरोना वायरस के संकट को देखते हुए इस राज्य ने किया 31 जुलाई तक लॉकडाउन का ऐलान

अब टिहरी में भी तेजी से होगी कोरोना जांच

हालांकि शुक्रवार को टिहरी जिले में एक भी कोरोना मामला सामने नहीं आया। लेकिन पिछले कुछ समय से सबसे अधिक संक्रमित पाए जाने वाले जिलों की सूची में देहरादून के बाद दूसरे नंबर पर है। बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए डीएम मंगेश घिल्डियाल ने स्वास्थ्य महानिदेशक को पत्र लिखकर जिले में दो ट्रू नेट मशीनें लगाने की मांग की थी। जिसके बाद गुरुवार टिहरी जिले में दो ट्रू नेट मशीनें लगा दी गई हैं। इस ट्रू नेट मशीन की खासियत ये है कि, यह मशीन 40 मिनट से 1 घंटे के भीतर दो कोरोना सैंपल की जांच करने में सक्षम है। जिले में एक ट्रू नेट मशीन को श्रीदेव सुमन संयुक्त चिकित्सालय नरेंद्रनगर और दूसरी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र नई टिहरी में लगाई गई है।

चमोली में दो ट्रू-नेट मशीन

टिहरी के अलावा चमोली जिले में भी दो ट्रू नेट मशीनें लगाई गई हैं। जिला प्रशासन के अनुरोध पर यह मशीन कर्णप्रयाग और गोपेश्वर में स्थापित की गई हैं। इस मशीन के लगने के बाद कोरोना रिपोर्ट के लिए अधिक इंतजार नहीं करना पड़ेगा। राज्य में टेस्टिंग को बढ़ाने के लिए इस मशीन को हर जिले में स्थापित किया जा रहा है। कोरोना के अलावा ये मशीनें भविष्य में डेंगू टेस्ट के लिए भी उपयोग में लाई जा सकेंगी।