बाढ़ में पूरा घर हुआ तबाह-किताबें भी बही, तो सोनू सूद बोले ‘अब आंसू पोंछ लें बहन’

Spread the love

पिछले कुछ महीनों से बॉलीवुड सेलिब्रिटीज़ के बीच नेपोटिज्म की बहस छिड़ी हुई है। कई सेलिब्रिटीज़ एक-दूसरे पर कई तरह के आरोप लगा रहे हैं। लेकिन फिल्मी दुनियां में मचे इस शोर के बीच एक एक्टर ऐसा भी है, जो चुप चाप गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करके तारीफ और सुर्खियां बटोर रहा है। इस बॉलीवुड एक्टर का नाम है सोनू सूद। दरअसल देश में जब से कोरोना का कहर शुरू हुआ है, उसी समय से सोनू सूद लोगों की मदद करने में जुटे हुए हैं। लॉकडाउन के दौरान सोनू प्रवासियों के लिए मसीहा बनकर उभरे थे। इस दौरान उन्होंने हजारों प्रवासियों को स्पेशल ट्रेन, बसों और फ्लाइट के जरिए उनके घर पहुंचाया था। वहीं अब सोनू सूद का नाम सोशल मीडिया पर चर्चा में है।

इसे भी पढ़े: उत्तराखण्ड में संक्रमण का खतरा बरकरार, एक्टिव मरीजों की संख्या 4 हजार पार

बाढ़ में पूरा घर हुआ तबाह

सोनू सूद ने एक बार फिर से गरीबों के चेहरे पर मुस्कान लाने का काम किया है। दरअसल इन दिनों देश के कई इलाके बाढ़ के कहर से जूझ रहे हैं। बाढ़ के कारण हजारों लोगों के घर तबाह हो गए हैं। पिछले दिनों एक शख्स ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर की। इस वीडियो में देखें के लड़की बाढ़ से तबाह हुए घर में अपनी भीगी हुई किताबें देख कर रो रही है। ये लड़की छत्तीसगढ़ के आदिवासी इलाके की है। वीडियो शेयर करने वाले शख्स ने लिखा है कि “किसी आदिवासी बच्ची में ऐसा पुस्तक प्रेम मैंने पहले दफे देखा”।

ये वीडियो वायरल होने लगी तो इस पर एक्टर सोनू सूद की नजर पड़ी। सोनू सूद ने अपने चिर परिचित अंदाज में वीडियो को देखते ही बच्ची की मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा दिया। सोनू सूद ने वीडियो पर कमेंट करते हुए लिखा, “आंसू पोंछ ले बहन… किताबें भी नईं होंगी… घर भी नया होगा।”

इसे भी पढ़े: बैल की जगह बेटियों से खेत जुतवा रहा था गरीब किसान, सोनू सूद ने घर भेज दिया ट्रैक्टर

वहीं सूनी सूद आजकल अपनी मदद का सिलसिला आगे बढ़ाते हुए आजकल विदेशों में फंसे भारतीयों को भारत ला रहे हैं। इससे पहले सोनू सूद ने एक गरीब किसान को ट्रैक्टर भी भेंट कराया था। किसान की वीडियो भी सोशल मीडिया के जरिए सोनू सूद तक पहुंची थी। अपनी इस दिलेरी के कारण सोनू सूद हर किसी के फेवरेट बने हुए हैं। रिएलिटी शो में जाने पार उन्हें स्पेशल ट्रिब्यूट दिया जा रहा है। जहां सोनू अपने इस अभियान के बारे में कुछ दिलचस्प बातें भी बता रहे हैं।