रूस का वैक्सीन बनाने का दावा कितना सही? पढ़िए पूरी खबर

Spread the love

दुनियां के कई देशों में कोरोना संक्रमण थमने का नाम नहीं ले रहा है। लेकिन इसी बीच अब रूस से एक उम्मीद की किरण नजर आ रही है। दरअसल मंगलवार को रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने दुनियां की पहली कोरोना वैक्सीन बनाने का दावा किया है। पुतिन ने इसका ऐलान करते हुए बताया कि उन्होंने अपनी बेटी को भी इस वैक्सीन का टीका लगाया है। जिसके बाद वह अच्छा महसूस कर रही है। रूस में बनी इस कोरोना वैक्सीन का नाम स्पुतनिक-5 (Sputnik-5) है। जो कि एक उपग्रह का नाम भी है।

रूस ने दावा किया है कि यह टीका कोविड-19 के खिलाफ स्थायी इम्यूनिटी विकसित करने में सक्षम है। इस वैक्सीन को गमालेया रिसर्च इंस्टीट्यूट और रूस की डिफेंस मिनिस्ट्री ने मिलकर तैयार किया है। रशियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड के प्रमुख किरिल दमित्रियेव ने बताया कि वैक्सीन का तीसरा चरण बुधवार से शुरू होगा। वहीं सितंबर तक इसके उत्पादन की उम्मीद भी है। उन्होंने बताया कि इस वैक्सीन के 1 अरब (1 बिलियन) डोज की मांग 20 देशों से हो चुकी है।

इसे भी पढ़े: न्यूजीलैंड ने क्या किया जिससे 100 दिन में कोरोना का एक भी केस नहीं आया

वैक्सीन तैयार लेकिन शक की नजर में रूस!

हालांकि रूस इस वैक्सीन को बनाने का दावा जोर शोर से कर रहा है, लेकिन इस वैक्सीन के परीक्षण का तीसरा चरण अभी पूरा नहीं हुआ है। जबकि वैक्सीन का तीसरा चरण सबसे अहम होता है। यही वजह है कि डब्ल्यूएचओ (WHO) और दुनियां के कई अन्य देश इस वैक्सीन को शक की निगाह से देख रहे हैं।

इससे पहले अप्रैल माह में युनाइटेड किंगडम, अमेरिका और कनाडा की सुरक्षा एजेंसियों ने दावा किया था कि रूसी सरकार के हैकरों ने कोरोना की वैक्सीन बनाने के लिए इकट्ठे किए गए आंकड़ों को हैक करने की कोशिश की।

WHO की रूस को चेतावनी

दरअसल पिछले हफ्ते विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) रूस को चेतावनी दे चुका है। WHO ने कहा था कि रूस टेस्टिंग के परंपरागत तरीकों के बिना वैक्सीन का निर्माण न करे। वहीं WHO ने दुनियां भर की उन कोरोना वैक्सीन की एक सूची तैयार की थी, जिनके ट्रायल चल रहे हैं। लेकिन WHO की इस सूची में रूस की वैक्सीन का नाम नहीं है।

इसे भी पढ़े: उत्तराखण्ड का ये जिला बन गया है कोरोना का गढ़

हालांकि, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को कहा कि वैक्सीन प्रभावी है और स्थायी रूप से इम्यूनिटी डेवलप करती है। पुतिन ने कहा कि, मैं दोबारा कह रहा हूं, ये वैक्सीन सभी जरूरी जांच से गुजर चुकी है।

5 thoughts on “रूस का वैक्सीन बनाने का दावा कितना सही? पढ़िए पूरी खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published.