इन देशों में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर है कड़ी सजा, कहीं 7 साल की जेल तो कहीं गोली मारने के आदेश

Spread the love

दुनियां भर में कोरोना का कहर जारी है। दुनिया के गरीब 195 देश इसकी चपेट में आ चुके हैं। यूएन के आंकड़ों के मुताबिक 180 देशों में स्कूल-कॉलेज बंद हैं। दुनिया की करीब 87% आबादी इस वायरस से प्रभावित है। 90 देशों में वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन लगा दिया गया है। इसके बावजूद कई लोग लॉकडाउन के चलते घर में रुकने के लिए तैयार नहीं हैं। यह देखते हुए कई देशों में लॉकडाउन का पालन करवाने के लिए अजीबो-गरीब नियम भी बनाए गए हैं।

 बाहर निकलने पर 2.5 लाख रु. का जुर्माना

कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची में इटली का नाम तीसरे नंबर पर है। यहां 1 लाख 20 हजार लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। वहीं 15,000 लोगों की जान भी जा चुकी है। यहां बिना वजह बाहर निकलने पर 2.5 लाख रु. और लोम्बार्डी में 4 लाख रु. का जुर्माना है। यहां अब तक 40,000 लोगों पर जुर्माना लग चुका है।

हांगकांग में क्वारेंटीन के नियम का उल्लंघन करने पर 2.5 लाख रुपए जुर्माना या 6 महीने की जेल का प्रावधान है।

सऊदी अरब में अपनी बीमारी और ट्रैवल हिस्ट्री छुपाने पर 1 करोड़ रुपए का जुर्माना है।

रूस की संसद में एंटी वायरस एक्ट पास हो गया है। जिसमें क्वॉरेंटाइन नियम तोड़ने पर 7 साल की सजा का प्रावधान है।

फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने क्वॉरेंटाइन का उल्लंघन करने पर गोली मारने का आदेश दे दिया है।
तो वहीं दक्षिणी अफ्रीका में घर से बाहर निकलने वालों पर पुलिस को रबर की गोली चलाने का आदेश है।

इसे भी पढ़ें- Corona के डर से बेटी ने बुजुर्ग मां-बाप को घर से निकाला

पनामा में लॉक डाउन के चलते घर से बाहर निकलने के लिए महिला और पुरुष के लिए अलग-अलग दिन रखे गए हैं। यहां महिलाएं सोमवार बुधवार और शुक्रवार को सिर्फ 2-2 घंटे के लिए बाहर निकल सकती हैं। इसी तरह बाकी दिन पुरुषों के लिए तय किए गए हैं।