अगर आप क्रिसमस-न्यू ईयर की पार्टी उत्तराखंड में मनाने की सोच रहे है तो पहले ये पढ़ ले

new year party in uttarakhand
Spread the love

उत्तराखंड सरकार ने बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के देखते हुए नए साल और क्रिसमस के मौके पर कुछ पाबंदियां लगा दी हैं। सरकार ने कहा है कि संक्रमण के बढ़ते मामलों के मद्देनजर क्रिसमस, नए साल और 1 जनवरी 2021 को बार, होटल और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर प्रोग्राम, पार्टी या फिर सार्वजनिक समारोह का आयोजन नहीं किया जा सकता है।

सरकार ने अपने इस नोटिस में कहा है, ‘जैसा कि कोविड-19 संक्रमण का प्रभाव निरंतर जारी है, जिसके प्रसार को रोकने के लिए सभी सुरक्षात्मक उपाय अपनाए जाने जनहित में काफी जरूरी हैं। 25 तारीख को क्रिसमस, 31 तारीख और 1 जनवरी, 2021 को नए साल के अवसर पर जनपद क्षेत्र के अंतर्गत होटलों, बार, रेस्टोरेंट और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर सामूहिक कार्यक्रम और पार्टी के आयोजन की अनुमति नहीं होगी। इनका पालन करना होगा, अगर उल्लंघन किया जाता है तो आपदा प्रबंधन अधिनियम-2005 और उत्तराखंड एपिडेमिट डिजीज, कोविड-19 रेगुलेशन, 2020 एपिडेमिक डिजीज एक्ट 1897 एवं भारतीय दंड संहिता तथा अन्य अधिनियमों की सुसंगत धाराओं के तहत कार्रवाई की जाएगी।’

इसके अलावा राज्य के पर्यटन मंत्री ने कहा है कि क्रिसमस और नए साल के मौके पर उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों का स्वागत किया जाता है। लेकिन उनसे अनुरोध है कि वह सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करें और छुट्टियों का आनंद लें।

राज्य में कई स्थानों पर बर्फ पड़ती है, जो क्रिसमस को और भी अधिक खास बनाती है। दूसरे राज्यों के पर्यटक क्रिसमस के मौके पर उत्तराखंड आने की योजना बनाते हैं, लेकिन इस बार प्रशासन ने क्रिसमस और नए साल पर पर सभी होटलों बार रेस्टोरेंट और सार्वजनिक स्थलों पर पब्लिक गैदरिंग , सामूहिक पार्टी और सेलिब्रेशन प्रोग्राम पर बैन लगाया है और इसके उल्लंघन पर महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करने का आदेश जारी किया है. इसका अर्थ यह है उत्तराखंड के अधिकांश क्षेत्रो में किसी तरह का कोई जश्न नहीं मनाया जा सकेगा.