चीन, जापान, पाकिस्तान समेत दुनियां के 42 देशों में पोर्नोग्राफी पर प्रतिबंध, भारत में क्या है कानून?

Pornopraphy ban in 42 countries of the world
Spread the love

पोर्न साइट्स के दुष्प्रभाव को देखते हुए दुनिया के 42 देशों में पोर्नोग्राफी को पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है।  वहीं इसके अलावा ब्रिटेन दुनिया का ऐसा पहले देश बनने जा रहा है जो 18 वर्ष से कम बच्चों को इस तरह के कंटेंट से दूर रखने के लिए कानून बनाने वाला है। वैसे तो यह कानून जुलाई 2019 को लागू होना था, लेकिन किसी कारणवश इसे अभी तक लागू नहीं किया गया। जिससे कानून का प्रारूप बनाने में भी देरी हो रही थी। इस देरी के लिए ब्रिटिश संसद में स्टेट सेक्रेट्री जेमेरी राइट ने माफी भी मांगी थी।

ब्रिटेन में लागू होने वाले इस नए कानून के मुताबिक एडल्ट कंटेंट उपलब्ध कराने वाली कंपनियां या वेबसाइट्स को सुनिश्चित करना होगा कि यूजर्स की उम्र 18 से कम ना हो। जिसमें यूजर की उम्र सत्यापित करने के लिए उसकी आईडी के तौर पर ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, पैन कार्ड आदि मांगा जा सकता है। वहीं अभी तक 42 देशों में पोर्नोग्राफी पर पूरी तरह से बैन लगा दिया गया है। इन देशों में चीन, जापान, साउथ कोरिया, उत्तरी कोरिया, सऊदी अरब, मिस्र, बांग्लादेश, श्रीलंका और नेपाल भी शामिल है। वहीं पाकिस्तान पिछले साल 8 लाख पॉर्न वेबसाइट्स पर प्रतिबंध लगा चुका है।

श्रीलंका में 20 साल की सजा का प्रावधान

श्रीलंका में भी पिछले साल पोर्न वेबसाइट्स पर प्रतिबंध को लेकर कुछ नियम बनाए गए हैं। श्रीलंका में पोर्नोग्राफी वाली सामग्री रखने, बनाने और बेचने पर 20 साल तक की कैद, जुर्माना और संपत्ति जब्त करने का प्रावधान है। बांग्लादेश में भी पिछले साल हाईकोर्ट के आदेश के बाद 1563 पोर्न वेबसाइट्स पर प्रतिबंध लगाया गया।

भारत में क्या है कानून?

भारत में चाइल्ड पॉर्नोग्राफी की सामग्री मिलने, बनाने और बेचने पर पूरी तरह पाबंदी है। जिसके लिए 7 साल तक की कठोर सजा का भी प्रावधान है। लेकिन एडल्ट पोर्न कंटेंट साइट्स अभी भी भारत में बिना किसी रोक टोक के धड़ल्ले से चल रहे हैं।