दूसरे राज्यों से उत्तराखण्ड आने वालों के लिए सरकार का नया आदेश जारी, पढ़ें पूरी खबर

Spread the love

पिछले कुछ समय से उत्तराखण्ड में कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। अब प्रतिदिन मिलने वाले संक्रमितों की संख्या बढ़कर एक हजार के पार पहुंच गई है। प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार में आई तेजी को देखकर प्रशासन के हाथ पांव फूल गए हैं। इसी बीच अब प्रदेश सरकार ने संक्रमण की रोकथाम के लिए नया आदेश जारी कर दिया है। लेकिन सरकार का यह आदेश सिर्फ बाहरी राज्यों से उत्तराखण्ड में प्रवेश करने वालों के लिए है।

दरअसल प्रदेश में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने अब सीमा पर लगी चौकियों में कोरोना टेस्टिंग की व्यवस्था उपलब्ध करा दी है। इसमें बाहरी राज्यों से प्रदेश में आने वाले लोग यहां पर कोरोना टेस्ट करा सकेंगे। सरकार द्वारा यह व्यवस्था उन लोगों के लिए है, जो या तो रिपोर्ट साथ लेकर न आए हों या टेस्ट ना करा पाए हों। ऐसे लोगों को प्रदेश सीमा पर स्थित चौकियों में भुगतान कर कोरोना टेस्ट कराना होगा। इसके लिए प्रदेश मुख्य सचिव ओमप्रकाश द्वारा पहले ही आदेश जारी हो चुका है।

इसे भी पढ़े: ऐसे करे स्मार्ट सिटी वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन

रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य

सीमा पर टेस्ट कराए जाने के बाद यदि किसी की रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो वे कोविड नियमों का पालन करते हुए राज्य में आ सकेंगे। लेकिन यदि रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उन्हें क्वारेंटाइन किया जाएगा। वहीं अनलॉक 4 को नियमावली के अनुसार बाहरी राज्यों से प्रदेश में आने वालों को अनिवार्य रूप से स्मार्ट सिटी वेब पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराना होगा। सीमा पर कोविड टेस्ट की व्यवस्था का जिम्मा मुख्य सचिव ने संबंधित जिलाधिकारियों को सौंपा है।

इसे भी पढ़े: अब देशभर में 21 सितंबर से खुल सकेंगे स्कूल

हर व्यक्ति का होगा कोरोना टेस्ट

सीमा पर कोरोना टेस्ट कराने के बाद सरकार की कोशिश होगी कि कम से कम बाहर से राज्य में आने वाले हर शख्स का कोरोना टेस्ट हो। इससे संक्रमण की रोकथाम में मदद मिल सकती है। जो व्यक्ति सीमा पर कोरोना टेस्ट नहीं कराना चाहते, वो आईसीएमआर द्वारा प्रमाणित किसी भी लैब की टेस्ट रिपोर्ट दिख सकते हैं। लेकिन रिपोर्ट 96 घंटे से पुरानी नहीं होनी चाहिए। साथ ही रिपोर्ट को रजिस्ट्रेशन करते वक्त स्मार्ट सिटी वेब पोर्टल पर अपलोड भी कराना होगा।