Mirzapur 2 Review: मिर्जापुर बोल्ड सीन से खून-खच्चर तक.. पहले से ज्यादा टाइट है मिर्जापुर-2 में भौकाल

Mirzapur 2
Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Mirzapur 2 Cast- पंकज त्रिपाठी, अली फजल, श्वेता त्रिपाठी, रसिका दुग्गल, हर्षिता गौर

Mirzapur 2 Web Series Genre- क्राइम थ्रिलर

Mirzapur 2 Director- करण अंशुमन, गुरमीत सिंह

IMDb Rating- 8.5

2 साल के लंबे इंतजार के बाद आखिरकार वो पल आ ही गया जिसका सभी को बेसब्री से इंतजार था। पंकज त्रिपाठी, दिव्येंदु शर्मा, श्वेता त्रिपाठी, अली फजल जैसे सितारों से बुनी हुई इस सीरीज का दूसरा सीजन 22 अक्टबूर को रिलीज कर दिया गया है। पिछले सीजन के मुकाबले मिर्जापुर-2 कई मायनों में डबल डोज देता है। वॉयलेंस हो या गाली गलौज, न्यूड सीन्स हों या डबल मीनिंग जोक्स इस बार मेकर्स ने हर मामले में एक कदम आगे जाने की पूरी कोशिश की है। तो चलिए जानते हैं कि इस सीजन में दर्शकों को क्या चीजें पहले से ज्यादा एंटरटेन करने वाली हैं।

गाली गलौज और डबल मीनिंग जोक्स

मिर्जापुर की प्लाट में इस्तेमाल की गई भाषा कहीं न कहीं इसकी जान है। पहले सीजन में एडल्ट जोक्स से लेकर गाली गलौज तक को दर्शकों ने काफी एन्जॉय किया था इसलिए इस बार इसकी मात्रा पहले से ज्यादा बढ़ा दी गई है। इस सीजन में कई बार इंटेंस सीन्स के बीच में भी आपको डबल मीनिंग जोक्स सुनाई पड़ेंगे। जो सीन की गंभीरता को तो बनाए रखते हैं लेकिन कहीं न कहीं हंसाते भी हैं। साथ ही सभी किरदार बात-बात पर गालियों का इस्तेमाल भी पहले से ज्यादा करते नजर आ रहे हैं।

न्यूड सीन्स में भी एक कदम आगे

मिर्जापुर के पिछले सीजन में भी सेक्स सीन्स को काफी स्पेस दिया गया था लेकिन कहा जा रहा है कि इस बार इस मामले में भी सीजन 2 आगे रहा है। दिव्येंदु शर्मा (मुन्ना भईया) को न्यूड दिखाने से लेकर अन्य तमाम अंतरंग दृश्यों तक मेकर्स ने बोल्ड सीन्स को सुपरबोल्ड बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी है।

खून-खराबा और वॉयलंस

पिछले सीजन में जाहिर तौर पर खून खराबा काफी दिखाया गया था लेकिन इस बार इसका लेवल भी एक नंबर ऊपर ही रखा गया है। कई दृश्य ऐसे हैं जो लोगों को विचलित कर सकते हैं। अब चाहे वो गंडासे से किसी का कत्ल करना हो या वीभत्स तरीके से किसी की जान लेना। मेकर्स ने हर सीन को ज्यादा से ज्यादा रियलस्टिक रखने की कोशिश की है।

सस्पेंस थ्रिलर और कहानी में मोड़

सीजन 1 के बाद दर्शक एक बात के बारे में आश्वस्त थे कि दूसरा सीजन गुड्डू पंडित और गोलू के बदले की कहानी होगा। लेकिन मेकर्स ने कहानी को सिर्फ एक ट्रैक पर नहीं रखा है। किसी डीजल लोकोमोटिव की तरह कहानी लगातार पटरी बदलती रहती है जिससे आप पूरे वक्त ये कयास लगाते रहते हैं कि आगे क्या होने वाला है और यही कहानी में आपका इंट्रेस्ट बनाए रखने में मदद करता है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.