परमाणु बम जैसे धमाके से दहल गया लेबनान, अकाल की स्थिति में राष्ट्रपति ने लगाई देश में इमरजेंसी

Spread the love

भूमध्य सागर की पूर्वी ओर इजरायल और सीरिया के पड़ोस में एक देश है लेबनान। मंगलवार की शाम को इस देश की राजधानी बेरुत में एक भीषण धमाका हुआ। ये धमाका बेरुत में एक बंदरगाह के पास गोदाम में मौजूद अमोनियम नाइट्रेट में हुआ। लेबनान के सरकारी बयानों से पता चला है कि गोदाम में पिछले 6 सालों से 2700 टन अमोनियम नाइट्रेट मौजूद था। जिसमें 4 अगस्त को अचानक से जोरदार विस्फोट हो गया। विस्फोट होने का कारण अभी तक सामने नहीं आया है। लेकिन ये विस्फोट इतना शक्तिशाली था कि इसकी आवाज 240 किलोमीटर दूर तक सुनाई दी। वहीं कई किलोमीटर दूर तक धमाके के कारण भूकंप के झटके भी महसूस किए गए।

इसे भी पढ़े: पाकिस्तान ने अपना नया मैप जारी किया, भारत के क्षेत्रों को लेकर विवाद

100 से ज्यादा मौत

जानकारों ने बताया है कि ये धमाका हिरोशिमा में हुए परमाणु विस्फोट के पांचवें हिस्से के बराबर था। धमाके के बाद सड़क पर चारों ओर लोग खून से लथपथ पड़े हुए थे। पास की सभी इमारतों की खिड़की और दरवाजों के कांच भी टूटे। सड़क पर मौजूद गाडियां हवा में उछल गई। देखते ही देखते कुछ ही सेकेंड में राजधानी बेरुत पूरी तरह से तबाह हो गया। अभी तक इस धमाके में 100 से ज्यादा लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। वहीं 4000 हजार से अधिक लोगों के घायल होने की भी खबर है। जैसे-जैसे बचाव कार्य आगे बढ़ रहा है, इन आंकड़ों में वृद्धि भी हो रही है।

इसे भी पढ़े: लेबनान की राजधानी बेरुत में भीषण धमाका, चंद सेकेंड में पूरा शहर हुआ तबाह

अकाल की स्थिति में लेबनान

इस घटना के बाद लेबनान पूरी तरह से हिल गया है। दरअसल लेबनान पिछले कई महीनों से आर्थिक संकट से जूझ रहा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार मंगलवार को हुए धमाके में लेबनान को 23,000 करोड़ का नुक़सान हुआ है। 3 लाख लोग इस मानवीय आपदा से प्रभावित हो चुके हैं। वहीं बेरुत के जिस बंदरगाह पर धमाका हुआ, वहां पर लेबनान का 85 प्रतिशत अनाज भी मौजूद था। जो धमाके के कारण बर्बाद हो चुका है। लेबनान की सरकार का कहना है कि लेबनान के पास अब एक महीने से भी कम का राशन बचा हुआ है। लेबनान के राष्ट्रपति ने इस अकाल की स्थिति के चलते देश में 2 हफ्ते तक इमरजेंसी भी लगा दी है। इसके साथ ही लेबनान के पीएम ने अंतरराष्ट्रीय मदद की भी मांग की है। लेबनान के इस बुरे वक्त में सीरिया, रूस और फ्रांस जैसे कई देश लेबनान की मदद के लिए आगे भी आए हैं।

18 thoughts on “परमाणु बम जैसे धमाके से दहल गया लेबनान, अकाल की स्थिति में राष्ट्रपति ने लगाई देश में इमरजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published.