क्या PUBG चाईनीज ऐप है? यहां जानें इस गेम के बारे में वो सब, जो आप जानना चाहते हैं

Spread the love

भारत सरकार ने बीते महीने 59 चीनी ऐप्स को बैन किया था। ऐप्स को बैन करने के पीछे सरकार का बयान था कि इन ऐप्स की गतिविधियां देश की संप्रभुता व अखंडता, सुरक्षा और सार्वजनिक व्यवस्था के लिए खतरा है। इनमें से अधिकतर वो ऐप थे, जो भारत में बहुत प्रचिलित थी। लेकिन इनके बैन होने के बाद से ही प्ले स्टोर पर कुछ ऐप्स के क्लोन (टिक टोक लाइट, हेलो लाइट, शेयर इट लाइट) आने शुरू हो गए। जिसे देखते हुए भारत सरकार ने 47 अन्य ऐप्स को भी बैन करने का फैसला कर लिया है।

इसे भी पढ़े: बैल की जगह बेटियों से खेत जुतवा रहा था गरीब किसान, सोनू सूद ने...

जानकारी के अनुसार सरकार अब 250 अन्य चाइनीज ऐप्स की सूची भी तैयार कर रही है। जिन्हें बैन करने को लेकर विचार किया जाएगा। वहीं खबर आ रही है कि इस 250 चाइनीज ऐप्स की लिस्ट में पबजी मोबाइल का नाम भी शामिल हो सकता है। ऐसे में पबजी को लेकर लोगों के मन में सवाल है कि क्या पबजी चाइनीज ऐप है? आइए इस सवाल का जवाब आर्टिकल में जानते हैं।

इसे भी पढ़े: Top 7 Best Air Cooler in India : 2020

क्या PUBG चाईनीज ऐप है?

पबजी को लेकर सबसे बड़ी बहस ये है कि ये चाईनीज ऐप है या कोरियन। दरअसल पबजी को PC के लिए बनाने वाली कंपनी Bluehole एक साउथ कोरियन कंपनी है। इसे 2017 में लॉन्च किया गया। इसके बाद से ही ये गेम पॉपुलर होना शुरू हो गया था। Bluehole ने गेमिंग मार्केट में पैर पसारने के लिए चीन की सबसे बड़ी वीडियो गेम्स पब्लिशर कंपनी Tencent Games के साथ इस गेम में साझेदारी की। कुछ समय बाद Tencent ने चाइना में इसका मोबाइल वर्जिन लॉन्च किया। 2018 में इसे प्ले स्टोर और ऐप स्टोर पर रिलीज किया गया। यहां आपको ये समझना जरूरी है कि PUBG और PUBG Mobile के पब्लिशर्स अलग-अलग हैं।

हालांकि पबजी को कोरियन कंपनी ने बनाया था, लेकिन इसका मोबाइल वर्जिन चाइनीज कंपनी ने तैयार किया था। इस हिसाब से पबजी मोबाइल एक चाइनीज ऐप बन जाता है। आपकी ये भी बता दें चाइनीज कंपनी Tencent की साउथ कोरिया की गेमिंग कंपनी Bluehole के साथ 10 प्रतिशत की हिस्सेदारी है।