कोरोना – इन पोषक तत्वों को भोजन में शामिल कर के बढ़ाये अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता

increat your imunity
Spread the love

रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का कोई जादुई फॉर्मूला नहीं है। लेकिन नियमित तौर पर कुछ कुदरती उपाय आजमाकर हम आने वाले दिनों में अपनी रोग-प्रतिरोधक क्षमता में बढ़ोतरी कर सकते हैं और इस तरह कोरोनावायरस ही नहीं, बल्कि इसी प्रकार की कई अन्य बीमारियों से भी अपना बचाव कर सकते हैं।  हमारे भोजन में शामिल कुछ पोषक तत्वों से इम्यून सिस्टम यानी रोग-प्रतिरोधक क्षमता को सुधारा जा सकता है। आइए आज इन्हीं उपायों के बारे में जानते हैं।

विटामिन A  & E – विटामिन A एवं विटामिन E एक प्रकार के शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट है जो इंफ्लमैशन (सूजन) को रोकते है साथ शरीर में रोगों से लड़ने वाले कोशिकाओं को बढ़ाते है।

विटामिन A के लिए इन भोज्य पदार्थों का सेवन करें-

  •  सब्जियाँ जैसे- गाजर, पीले व लाल शिमला मिर्च, कदृदू, शकरकंद
  •  फल जैसे- आम, खुबानी, संतरा, पपीता, खरबूजा, चकोतरा
  • डेयरी उत्पाद जैसे- दूध और दूध से बने पदार्थ जैसे पनीर, दही आदि

Fruit & Vegetable Steel Handle Juicer

hand Juicer

विटामिन E

  • खुबानी, कीवी, बादाम, मूंगफली, हेज़लनट्स, चिलगोज़े (पाइन नट्स), जैतून, सूरजमुखी के बीज, कदृदू के बीज
  • वनस्पति तेल जैसे गेहूं के बीज का तेल, सूरजमुखी का तेल, सोयाबीन का तेल, बादाम का तेल
  • सरसो एवं शलगम का साग, ब्रोकोली, कदृदू
इसे भी पढ़े: अब घर बैठे 7 से 10 दिन में घटाएं वजन

विटामिन C – विटामिन सी में एंटीऑक्सिडेंट मौजूद होते हैं जो फ्री रेडिकल्स के कारण शरीर को होने वाले क्षति एवं संक्रमण से भी बचाते हैं | विटामिन सी युक्त भोज्य पदार्थ हैं.

  • फल जैसे- नींबू, संतरा, अंगूर, पपीता, स्ट्रॉबेरी, आंवला
  • सब्जियां जैसे- ब्रोकोली, हरी मिर्च, लाल व पीली शिमला मिर्च, टमाटर

Lemon Lime Squeezer

Lemon Lime Squeezer

विटामिन D – कई रिसर्च से पता चला है कि विटामिन डी वायरल संक्रमण एवं श्वांस सम्बन्धी संक्रमण को रोकने में लाभदायक साबित होता हैं ।इसके लिए इनका सेवन करें-

  • मशरूम
  • विटामिन डी फोर्टिफिकेशन वाले भोज्य पदार्थ
  • सूर्य की रौशनी में बैठें

आयरन (लौह तत्व)- आयरन की कमी से इम्यूनोकोम्प्रोमाइज़ की स्थिति आ जाती है, जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी हो जाती है। अतः अपने भोजन में आयरन ( लौह तत्व) की मात्रा भरपूर रखें | इसके लिए इन भोज्य पदार्थों का सेवन करें-

  • कम वसा वाला मांस या चिकन,
  • पालक, ब्रोकोली, सलाद पत्ता
  • साबुत अनाज, सेम, मटर, अंकुरित फलियां
  • गुड़, खजूर
  • खाना पकाने के लिए लोहे के बर्तन का उपयोग करें
इसे भी पढ़े: बार-बार भूख लगना हो सकता है ब्लड शुगर कारण

सेलेनियम- इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट शरीर को फ्री रेडिकल्स से प्रभाव एवं शरीर को रोगो के संक्रमण से बचाते हैं। इनके लिए ये भोज्य पदार्थों का सेवन करें-

  •  टूना मछली , झींगा, चिकन
  •  केले
  • चावल, पुरे गेहूं की बनी रोटी या ब्रेड
  • आलू, मशरूम
  • चिया सीड्स

ज़िंक- ये श्वेत रक्त कोशिकाओं को बढ़ाने में मदद करता है, जो संक्रमण से बचाव करतें है। इनके लिए खाएं-

  • सीफूड जैसे केकड़ा, सीप और झींगा मछली
  • लाल मांस, चिकेन और अंडा
  • दूध व दूध से बने पदार्थ
  • छोले व अन्य फलियां
  • नट्स एवं बीज जैसे- बादाम, मूंगफली, चिलगोज़े ( पाइन नट), तिल के बीज, कदृदू के बीज
इसे भी पढ़े: इसे पढ़ने के बाद आप फिर कभी केले का छिलका नहीं फेंकेंगे

प्रोबायोटिक- प्रोबायोटिक्स यानि गट बैक्टीरिया, ये वो बैक्टेरिया हैं जो पाचन तंत्र को उत्तम बनाए रखने और प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देने में मदद करते है। प्रोबायोटिक्स के लिए आप इनका सेवन करें.

  • डेयरी आधारित उत्पाद- दूध, पनीर, दही, दूध पाउडर, छाछ, याकुल्ट, काफिर
  • सोया दूध और उसके उत्पाद
  • किमची, प्रोबायोटिक्स से युक्त अनाज और नुट्रिशन बार

ओमेगा 3- ये प्रोबायोटिक्स के कार्य को प्रभावी बनाते है, जिससे हमारा पेट स्वस्थ रहे एवं इम्यून सिस्टम मजबूत बन सके। इसके लिए-

  • मछली का तेल/मछली के तेल की कैप्सूल 
  • चिया सीड्स, अलसी के बीज और अखरोट
  • अलसी का तेल और सोयाबीन का तेल
  • ओमेगा 3 फोटिफाइड किये अनाज, जूस, दूध और सोया पेय

MuscleBlaze Omega 3 Fish Oil

omega 3 fish oil