उत्तराखण्ड: संक्रमितों की संख्या 13636 पहुंची, पिछले एक हफ्ते में मिले 2334 नए मरीज, 44 मौतें

Spread the love

उत्तराखण्ड में पिछले एक महीने से संक्रमण में आई तेजी अब किसी से छिपी नहीं है। संक्रमण में आई तेजी अब सभी रिकॉर्ड तोड़ते हुए आगे बढ़ रही है। गुरुवार, 20 अगस्त को भी प्रदेश में 411 नए संक्रमित मिलने के बाद कुल संक्रमितों की संख्या 13636 हो गई है। वहीं स्वस्थ होने वाले मरीजों की संख्या भी अब बढ़कर 9433 हो गई है। लेकिन गुरुवार को 9 संक्रमित मरीजों के मरने के बाद संक्रमितों की कुल होने वाली मौतें 187 पहुंच गई है।

इन जिलों में मिले नए मरीज

गुरुवार को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए हेल्थ बुलेटिन के अनुसार नए मिले संकेमैतों में सबसे अधिक 125 मरीज ऊधम सिंह नगर में सामने आए। वहीं हरिद्वार में भी कोरोना का कहर जारी रहा। यहां 115 नए संक्रमित मिले। इसके अलावा देहरादून में 87, नैनीताल में 47, टिहरी में 17, चमोली में 9, पौड़ी में 6, अल्मोड़ा व चंपावत में 2-2 और बागेश्वर में एक मरीज पॉजिटिव निकले।

इसे भी पढ़े: कोरोना - उत्तराखण्ड सरकार ने जारी की नई गाइडलाइंस, अब मिलेगी ये छूट

किस जिले में कितने मरीज

हरिद्वार – 3321
देहरादून – 2742
ऊधम सिंह नगर – 2519
नैनीताल – 1989
टिहरी गढ़वाल – 818
उत्तरकाशी – 490
अल्मोड़ा – 386
पौड़ी गढ़वाल – 360
चंपावत – 228
चमोली – 223
पिथौरागढ़ – 215
बागेश्वर – 192
रुद्रप्रयाग – 153

इसे भी पढ़े: तुलसी के ये फायदे जान के आप दंग रह जाओगे

पिछले एक हफ्ते के आंकड़े

प्रदेश में हर हफ्ते की तरह इस हफ्ते भी संक्रमण की रफ्तार में पहले से अधिक तेजी रही। नतीजा ये रहा कि इस बार मात्र 7 दिनों में 2334 संक्रमित बढ़े। वहीं मौतों की संख्या भी सर्वाधिक 44 रहीं। हालांकि संक्रमण बढ़ने के साथ स्वस्थ होने मरीजों की संख्या भी 2419 रही। लेकिन संक्रमण बढ़ना प्रशासन से लिए लगातार चिंता का विषय बना हुआ है।

इन जिलों में बढ़ा सबसे अधिक संक्रमण

इस एक हफ्ते में देखा गया कि जो कोरोना संक्रमण पहले सिर्फ मैदानी इलाकों पर हावी था, वह अब पहाड़ में भी बढ़ने लगा है। इस हफ्ते शहरों के साथ साथ पहाड़ी जिलों में भी संक्रमण की गति बढ़ी। इन जिलों में से हरिद्वार (643), देहरादून (470), नैनीताल(365) और ऊधम सिंह नगर (343) के बाद टिहरी गढ़वाल(148) का नंबर है। इसके अलावा उत्तरकाशी(115), चमोली(6I) और पौड़ी(65) में भी संक्रमण की गति बढ़ी।