दूसरे राज्यों से आ रहे हो उत्तराखण्ड, तो कर लीजिए ये काम, मिलेगी क्वारेंटाइन से छूट

Spread the love

उत्तराखण्ड में अनलॉक 4 की गाइडलाइंस में सरकार ने कुछ नियमों में बदलाव कर लोगों को राहत दी है। इनमें वो नियम भी शामिल हैं, जो बाहरी राज्यों से उत्तराखण्ड में प्रवेश करने वालों पर लागू होते हैं। अनलॉक 4 की सरकारी नियामावली के अनुसार प्रदेश में प्रवेश करने वालों की सीमा को खत्म कर दिया गया है। जबकि अनलॉक 3 में एक दिन में 2000 लोग ही उत्तराखण्ड में प्रवेश कर सकते थे। हालांकि स्मार्ट सिटी वेब पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करना अभी भी अनिवार्य रखा गया है। इसके अलावा हाई लोड कोरोना संक्रमण वाले शहरों से उत्तराखण्ड में आने वाले लोगों को 7 दिन संस्थागत क्वारेंटाइन और 7 दिन होम क्वारेंटाइन रहने का नियम भी जारी रखा गया है। जबकि अन्य शहरों से आने वालों को 14 दिन के होम क्वारेंटाइन पर रखा जाएगा। लेकिन बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के लिए सरकार की ओर से एक राहत की खबर भी है।

इसे भी पढ़े: इन शहरों से उत्तराखण्ड आने वाले लोग रहें सावधान, आने से पहले..

दरअसल उत्तराखण्ड सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस के अनुसार अब बाहरी राज्यों से आने वालों को क्वारेंटाइन से छूूट मिल सकेगी। अब हाई लोड शहरों से आने के बावजूद यदि कोई कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट को एंट्री करते समय बॉर्डर चेक पोस्ट पर दिखाता है, तो उसे क्वारेंटाइन से छूट मिलेगी। लेकिन कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाने के साथ ही कुछ और शर्तों का भी पालन करना होगा।

इन शर्तों पर मिलेगी क्वारेंटाइन से छूट


  • उत्तराखण्ड में प्रवेश करने से पहले कराए गए कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट ICMR (Indian council of medical research) द्वारा प्रमाणित होनी चाहिए।
  • बाहरी राज्यों से उत्तराखण्ड आने वालों की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट 96 घंटे से अधिक पुरानी नहीं होनी चाहिए।
  • उत्तराखण्ड आने से पहले स्मार्ट सिटी वेब पोर्टल ( http://dsclservices.org.in/apply.php ) पर रजिस्ट्रेशन करना होगा।
  • अपने कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट को स्मार्ट सिटी वेब पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करते वक्त अपलोड करना होगा।
  • उत्तराखण्ड आने वालों को अपने मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप भी रखना होगा।

इसे भी पढ़े: उत्तराखण्ड: अनलॉक 4.0 में बदले कई नियम

ICMR द्वारा प्रमाणित 96 घंटे के भीतर कराए गए कोरोना टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट को उत्तराखण्ड में प्रवेश करते वक्त बॉर्डर चेक पोस्ट पर चेक किया जाएगा। राज्य में एंट्री के समय यदि इनमें से किसी शर्त को भी पूरा न किया गया हो, तो बॉर्डर से ही वापस लौटाया जा सकता है।