सिर्फ 15 मिनट में ऐसे भरें ITR, बेहद आसान है खुद से इनकम टैक्स रिटर्न भरना

ITR
Spread the love
  • ITR भरने की समयसीमा बढ़ाकर 30 नवंबर 2020 कर दी गई है.
  • ITR फाइल करने के बाद इसे वेरीफाई करना अनिवार्य है

ये हर साल की कहानी है कि जैसे ही ITR भरने की तारीख नजदीक आती है हम CA खोजने लगते हैं. कोरोनावायरस महामारी के कारण CBDT ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न (ITR) भरने की आखिरी तारीख 30 नवंबर 2020 तक बढ़ा दी है. ऐसे में हमारे पास पर्याप्त मौका है कि हम ये सीख सकें कि खुद से ITR कैसे भरा जा सकता है. ये मुश्किल से 15 मिनट का काम है.

सबसे पहले ITR फाइल करने के लिए अपना PAN, Aadhaar, बैंक अकाउंट नंबर, इन्वेस्टमेंट डिटेल्स और उसके प्रूफ/सर्टिफिकेट, फॉर्म 16, फॉर्म 26 AS वगैरह निकाल कर रख लें, क्योंकि ITR फाइल करते वक़्त इनकी जरूरत पड़ेगी।

ITR फाइल करने के लिए आपको पता होना चाहिए कि आप किस कैटेगरी के टैक्सपेयर हैं और आपको कौन सा ITR फॉर्म भरना है। इसे समझने के लिए आप आयकर विभाग की वेबसाइट www.incometaxindiaefiling.gov.in पर भी जा सकते हैं। ऑनलाइन ITR भरने के लिए सबसे पहले खुद को ITR के लिए रजिस्टर्ड कर ले, उसके बाद ही आप ITR भर सकेंगे ।

इसे भी पढ़े: अब घर बैठे बनाए ड्राइविंग लाइसेंस (DL)

आइये जानते है कि ITR कैसे फाइल करे

1. सबसे पहले आप www.incometaxindiaefiling.gov.in पर जाएं।
2. यूजर आईडी (PAN), पासवर्ड, जन्मतिथि और कैप्चा कोड एंटर कर लॉग इन करें।
3. ‘e-File’ टैब पर जाएं और Income Tax Return लिंक पर क्लिक करें।
4. सबसे पहले यह चुनें कि कौन सा ITR फॉर्म भरना है और असेसमेंट ईयर कौन सा है।
5. अगर ओरिजिनल रिटर्न भर रहे हैं तो ‘Original‘ टैब पर क्लिक करें।
6. अगर रिवाइज्ड रिटर्न भर रहे हैं तो ‘Revised Return‘ पर क्लिक करें।
7. इसके बाद Prepare and Submit Online को चुनें, फिर Continue को क्लिक करें।
8. इसके बाद नए पेज में दी गई सभी जानकारियों को भरें और सेव करते रहें, क्योंकि सेशन टाइम आउट हुआ तो भरी गई सभी जानकारियां हट जाएंगी।
9. इसमें आपको निवेश की सभी जानकारियां, हेल्थ और जीवन बीमा की जानकारियां भरनी हैं।
10. सभी जानकारियां भरने के बाद अंत में Verification का पेज आएगा, जिसे आप चाहें तो उसी समय वेरिफाई कर दें, नहीं तो 120 दिन के अंदर वेरिफाई कर सकते हैं।
11. इसके बाद Preview and submit पर क्लिक करें और ITR को सबमिट करें।

इसे भी पढ़े: आधार को पेन से लिंक नहीं करवाया है तो पड़ सकता है महंगा – ऐसे करे 

वेरिफिकेशन न भूलें

ITR फाइल करने के बाद इसे वेरीफाई करना अनिवार्य है जिसके 4 तरीके हैं-

1. आधार ओटीपी के जरिए
2. नेट बैंकिंग के जरिए ई-फाइलिंग अकाउंट में लॉग इन कर
3. इलेक्ट्रॉनिक वेरिफिकेशन कोड (EVC) के जरिए
4. ITR-V के दोनों तरफ दस्तखत की हुई कॉपी को बैंगलुरु भेजेंय

याद रहे 120 दिनों के अंदर ITR-V फाइल न करने पर रिटर्न को ‘नहीं भरा हुआ’ यानी अमान्य घोषित किया जा सकता है।