हाथरस गैंगरेप: पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने, दुष्कर्म के बाद पीड़िता के साथ हुई थी बर्बर मारपीट

Spread the love

बीते बुधवार को पूरा देश एक बार फिर शर्मशार हुआ, जब यूपी के हाथरस की एक गैंगरेप पीड़िता ने दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में दम तोड़ दिया। इसके बाद अब गुरुवार को इस गैंगरेप मामले में दिवंगत पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी आ गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार बताया गया है कि पीड़िता के साथ किस तरह की दरिंदगी की गई है। रिपोर्ट में दावा है कि गैंगरेप के बाद पीड़िता का गला दबाकर उसके साथ बर्बर तरीके से मारपीट हुई है।

रिपोर्ट के मुताबिक पीड़िता का कई बार गला दबाया गया। पीड़िता ने बचने की कोशिश भी की। लेकिन उसके साथ बुरे तरीके से मारपीट भी की गई, जिस कारण उसकी रीढ़ की हड्डी टूट गई थी। वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि पीड़िता की मौत का कारण विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही हो पाएगा।

शुरुआती इलाज में बड़ी लापरवाही : पोस्टमार्टम रिपोर्ट

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि, मरीज का शुरुआती इलाज सही तरीके से नहीं किया गया और उसके अटेंडेंट को बताया गया कि मरीज की हालत स्थिर है। बाद में पर्याप्त इलाज के बाद भी पीड़िता की हालत बिगड़ती गई। पीड़िता को CPR भी दिया गया लेकिन पीड़िता को नहीं बचाया सका। सभी संभव प्रयासों के बाद मंगलवार सुबह 8:55 बजे पीड़िता की मृत्यु हो गई।

परिवार के पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप

दरअसल 14 सितंबर को उत्तरप्रदेश के हाथरस में एक 20 वर्षीय दलित युवती के साथ गांव के ही चार उच्च जाति के युवकों ने गैंगरेप किया। इसके बाद उसका गला दबाया गया और उसके साथ मारपीट भी की गई। जिसमें उसकी जीभ भी कट गई और उसकी रीढ़ की हड्डी भी टूटी। पीड़ित परिवार ने स्थानीय पुलिस पर भी कई गंभीर आरोप लगाए हैं। जिनमें कार्यवाई करने में लापरवाही और परिवार की इजाजत के बिना जबरन पीड़िता का अंतिम संस्कार करने के आरोप शामिल हैं। वहीं पूरा देश पीड़िता के लिए इंसाफ मांग रहा है। जगह जगह इस घटना के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं।

 

इसे भी पढ़े: New Motor Vehicle Rules: अब ड्राइविंग लाइसेंस, इंश्योरेंस, RC साथ रखने की जरूरत नहीं होगी

इसे भी पढ़े: देशभर में लागू हुआ अनलॉक 5.0, जानिए क्या हैं सरकार के नए नियम

इसे भी पढ़े: सुरेश रैना की नहीं होगी CSK टीम में वापसी, ऑफिसियल वेबसाइट से हटा नाम

इसे भी पढ़े: एन्क्रिप्शन के बावजूद सरकार निकाल लेती है आपका डिलीट किया गया डाटा, जानिए कैसे करें बचाव