यदि उत्तराखण्ड आ रहे हो, तो सरकार की इन नई गाइडलाइंस को जरूर पढ़ें

Spread the love

उत्तराखण्ड सरकार ने बीते गुरुवार को अनलॉक 3 के लिए नई गाइडलाइंस जारी की। इसमें उत्तराखण्ड की त्रिवेंद्र सरकार ने लोगों को रात में लगने वाले कर्फ्यू से निजात से दी है। पहले रात्रि में केवल ऑफिस से घर जान वालों और बस व ट्रेन से आने वालों को ही बाहर जान अनुमति थी। लेकिन सरकार ने अब इस पाबंदी को हटा दिया है। वहीं सरकार ने स्कूल और कॉलेजों को 31 अगस्त तक बंद रखने का फैसला लिया है। हालांकि जिम और योगाकेंद्रों को खोलने की भी इजाजत मिल गई है। लेकिन इसमें सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य जरूरी नियमों का पालन करना होगा। वहीं सरकार ने नई गाइडलाइंस में बाहर से राज्य में प्रवेश करने वालों के लिए भी कुछ नियम तय किए। आइए जानते हैं उत्तराखण्ड आते वक्त कौन सी बातों का ध्यान रखना होगा।

इसे भी पढ़े: उत्तराखण्ड सरकार ने अनलॉक-3 के लिए जारी की नई गाइडलाइंस

  • बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों के फोन में आरोग्य सेतु एप होना जरूरी है।
  • दूसरे राज्यों से आने वालों को स्मार्ट सिटी के वेबपोर्टल (http://smartcitydehradun.uk.gov.in) पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। ई-पास की आवश्यकता नहीं है।
  • स्मार्ट सिटी वेबसाइट पर किए गए रजिस्ट्रेशन प्रपत्र को साथ रखें। उत्तराखण्ड आते समय सीमा पर इसे चेक किया जाएगा।
  • दिल्ली और मुंबई जैसे अधिक संक्रमण वाले शहरों से आने वाले लोगों को उत्तराखण्ड आने के बाद सात दिन के लिए संस्थागत क्वारेंटीन रहना होगा। इसके बाद 7 दिन के लिए होम क्वारेंटीन रहेंगे।
  • उत्तराखण्ड आने वाले पर्यटकों को भी सात दिन के लिए संस्थागत क्वारेंटीन किया जाएगा।
  • विदेश से आने वालों को भी 7 दिन के लिए संस्थागत क्वारेंटाइन और फिर 7 दिन होम क्वारेंटाइन रहना होगा।
  • गर्भवती महिलाओं, 65 साल से अधिक उम्र के लोगों और किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित लोगों को संस्थागत क्वारेंटाइन नहीं किया जाएगा। उन्हें 14 दिन के होम क्वारेंटाइन के लिए ही रखा जाएगा।
    इसे भी पढ़े: उत्तराखण्ड के 5 जिलों में अलर्ट जारी, भारी बारिश की चेतावनी
  • इसके अलावा अन्य शहरों से आने वालों को 14 दिन के लिए होम क्वारेंटाइन रहना होगा।
  • बाहरी राज्यों से उत्तराखण्ड आने के लिए अब एक दिन में 2000 लोग रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे। पहले ये संख्या 1500 थी।
  • किसी काम से उत्तराखण्ड से बाहर जाने वाले लोग यदि 5 दिन के भीतर वापस लौटते हैं, तो उन्हें क्वारेंटाइन नहीं होगा होगा।
  • किसी की मृत्यु और गंभीर बीमारी आदि की वजह से यदि कोई व्यक्ति 7 दिन तक के लिए उत्तराखण्ड आता है, तो उसे क्वारेंटाइन नहीं होना होगा।
  • 72 घंटे के भीतर आईसीएमआर द्वारा अधिकृत कोविड नेगेटिव रिपोर्ट वाले लोगों को भी क्वारेंटाइन से रिहायत मिलेगी। इन्हें अपनी मेडिकल रिपोर्ट स्मार्ट सिटी पोर्टल पर अपलोड करनी होगी।

361 thoughts on “यदि उत्तराखण्ड आ रहे हो, तो सरकार की इन नई गाइडलाइंस को जरूर पढ़ें

Leave a Reply

Your email address will not be published.