जानें, किन लोगों को कोवैक्सीन और कोविशील्ड नहीं लेनी चाहिए

corona vaccine
Spread the love

भारत में कोरोना वायरस का वैक्सीनेशन जोरों पर चल रहा है. अब तक 6 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है जिसमें करीब एक हजार लोगों में इसके साइड इफेक्ट देखे जा चुके हैं. गंभीर साइड इफेक्ट के बाद 7 में से 2 लोगों की मौत हो चुकी है. कोविशील्ड (Covishield vaccine) और कोवैक्सीन (Covaxin) की तरफ से जारी फैक्टशीट में बताया गया है कि किन लोगों को ये वैक्सीन नहीं लेनी चाहिए.

टीकाकरण के दौरान सामने आ रहीं साइड इफेक्ट (प्रतिकूल असर) की घटनाओं के मद्देनजर भारत बायोटेक के बाद अब सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एसआईआई) ने भी एक फैक्टशीट जारी कर लोगों को आगाह किया है। एसआईआई ने फैक्टशीट जारी कर बताया है कि ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की ‘कोविशील्ड’ किन-किन को नहीं लगवानी चाहिए। कंपनी ने कहा कि जिन लोगों को कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड के किसी भी घटक से किसी तरह की एलर्जी है, उन्हें सलाह दी जाती है कि ये टीका न लगवाएं।

इसे भी पढ़े: सावधान! कहीं आपके पास भी तो नहीं आया है ये मैसेज? गृह मंत्रालय ने भी जारी किया Alert

कंपनी की ओर से टीका लेने वालों के लिए जारी ‘फैक्टशीट’ में कहा गया है कि अगर इस टीके की पहली खुराक से किसी तरह की कोई गंभीर एलर्जी की शिकायत हुई हो तो उन्हें कोविशील्ड की अगली खुराक नहीं लेनी चाहिए। सीरम इंस्टीट्यूट ने कहा कि कोविशील्ड के निर्माण में एल-हिस्टीडाइन, एल-हिस्टीडाइन हाइड्रोक्लोराइड मोनोहाइड्रेट, मैग्नेशियम क्लोराइड हेक्साहाइड्रेट, पॉलीसॉरबेट 80, इथेनॉल, सुक्रोज, सोडियम क्लोराइड, डाइसोडियम इडेटेट डाइहाइड्रेट (ईडीटीए), पानी की मात्रा का इस्तेमाल किया गया है।

भारत बायोटेक ने अपने फैक्ट शीट में प्रेग्नेंट और ब्रेस्ट फीडिंग कराने वाली महिलाओं के अलावा तेज बुखार, ब्लीडिंग डिसऑर्डर वाले लोगों को ये वैक्सीन ना लेने की सलाह दी है

वहीं कोविशील्ड बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने अपनी फैक्ट शीट में उन लोगों को वैक्सीन ना लगवाने की सलाह दी है जिन्हें वैक्सीन के किसी भी इनग्रेडिएंट से गंभीर एलर्जी की समस्या है.

इसे भी पढ़े: गंजेपन से बचने के लिए अपनाये ये घरेलू उपाय

इन लोगों को नहीं लगवानी चाहिए कोविशील्ड वैक्सीन

  •  यदि आपको किसी भी दवा, खाद्य सामग्री, किसी भी टीका या काविशील्ड में प्रयुक्त किसी भी घटक से कभी किसी तरह की कोई एलर्जी की शिकायत हुई, तो कोविशील्ड बिल्कुल न लगाएं।
  • बुखार, अत्यधिक रक्तस्राव या खून से संबंधित कोई बीमारी है या जिनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम है वे टीका न लगवाएं
  • जो लोग रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए कोई दवा लेते हैं तो वे टीका लेने से पहले डॉक्टर को इस बारे में जरूर बताएं
  • अगर कोविशील्ड की पहली खुराक के बाद कोई एलर्जी हुई हो तो उन्हें दूसरी खुराक नहीं लेनी है
  • अगर कोई महिला गर्भवती है या भविष्य में गर्भधारण करना चाहती है अथवा स्तनपान कराती है तो उन्हें भी टीका लेने से पहले डॉक्टर को इस बारे में बताना चाहिए
  • अगर किसी शख्स को कोरोना का कोई और टीका लग चुका है तो उसे कोविशील्ड लगवाने की जरूरत नहीं है।