MP- CAA समर्थन रैली में भाजपा कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच झड़प, कलेक्टर ने मारा भाजपा नेता को चांटा

collector slaps bjp leader
Spread the love

मध्यप्रदेश के राजगढ़ जिले में बीजेपी कार्यकर्ताओं और प्रशासन के बीच उस वक्त टकराव हो गया जब बीजेपी कार्यकर्ता संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के समर्थन में तिरंगा यात्रा निकाल रहे थे। क्षेत्र में धारा 144 लागू होने के बाद भी जब कार्यकर्ताओं ने अपने प्रदर्शन को नहीं रोका, तो उन्हें रोकने के लिए खुद राजगढ़ की कलेक्टर निधि निवेदिता पुलिस बल के साथ वहां पहुंची। वहां पहुंचने पर कलेक्टर की कार्यकर्ताओं के साथ तीखी बहस होने लगी। इसी बहस बाजी के दौरान कलेक्टर ने बीजेपी के एक नेता को थप्पड़ जड़ दिया। जिसके बाद प्रदर्शनकारी अनियंत्रित होने लगे। हालात बिगड़ने लगे तो पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू कर दी। जिसमें दो बीजेपी कार्यकर्ता घायल हुए।

इलाके में धारा 144 लागू होने के कारण बीजेपी के कार्यक्रम को अनुमति नहीं दी गई थी। इसके बावजूद भी जब संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के समर्थन में बीजेपी ने तिरंगा यात्रा निकाली तो प्रशासन ने उन्हें रोकने की भरसक कोशिश की। इस दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच दो बार धक्का-मुक्की भी हुई। प्रदर्शनकारियों को रोकते समय महिला अधिकारियों से अभद्रता की घटना भी सामने आई। बताया गया कि प्रदर्शनकारियों द्वारा कलेक्टर के बाल और कपड़े भी खींचे गए। जिसके बाद प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज हुई। 8-10 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में भी लिया गया है।

  ALSO READ::सुप्रीम कोर्ट ने महात्मा गांधी को भारत रत्न देने से किया इंकार, कह दी ये बड़ी बात

घटना के बाद मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और भाजपा नेता शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार और प्रशासन के ऊपर निशाना साधा। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि ‘आज के दिन को लोकतंत्र का सबसे काले दिनों में गिना जाएगा।’