‘दिल्ली हिंसा’ – भीम आर्मी ने किया था पहले पथराव! जांच में जुटी दिल्ली पुलिस

Spread the love

‘लोगों की जिंदगी गुजर जाती है एक घर बनाने में, वो तरस भी नहीं खाते बस्तियां जलाने में’। राजधानी दिल्ली में हुई हिंसा में अभी तक 42 लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। वहीं 300 से ज्यादा लोग घायल हैं। पिछले दिनों चली इस हिंसा में हिन्दू और मुसलमान दोनों ही समुदाय के लोग अपने घरों को आग की लपटों से नहीं बचा सके। दंगाग्रस्त इलाकों में स्थिति सामान्य हो रही है। लेकिन अभी भी दहशत का माहौल ऐसा है कि लोग अपना आशियाना छोड़ने पर मजबूर हो गए हैं। कई लोग अपनी आजीविका का आधार भी खो चुके हैं। हालांकि दिल्ली सरकार ने उन पीड़ितों को आर्थिक मदद देने का ऐलान कर दिया है, लेकिन उनका क्या जो इस दंगे में अपने भाई, बेटे और पिता को खो चुके हैं।

भीम आर्मी पर पहले पथराव करने का आरोप

अब भीम आर्मी दंगा शुरू करने के लिए दिल्ली पुलिस और स्पेशल ब्रांच के शक के घेरे में आ गई है। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने 1 बजे ट्वीट करके समर्थकों को दोपहर 3 बजे मौजपुर चौक पहुंचने को कहा था। इसके बाद वहां पर कपिल मिश्रा भड़काऊ भाषण दे रहे थे। उसी समय भीम आर्मी के 15 से 20 समर्थक वहां से गुजरने लगे।
उन्होंने बताया कि ये चांद बाग से जोर बाग जा रहे थे। तब ये कपिल मिश्रा के समर्थकों को देखकर हूटिंग करने लगे। इसके बाद दोनों पक्षों में हाथापाई हो गई थी। उसके बाद भीम आर्मी समर्थक वहां से चले गए। लेकिन फिर कुछ देर बाद वापस आकर उन्होंने कपिल मिश्रा समर्थकों पर पथराव शुरू कर दिया। जिसके बाद दिल्ली में हिंसा बढ़ती गई। हालांकि पुलिस इस बात की अभी पुष्टि नहीं कर पाई है।
स्पेशल ब्रांच के अधिकारी ने बताया कि 23 फरवरी को दंगे शुरू होने होने के समय भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर बंगलुरु में थे। पुलिस दंगे में भीम आर्मी और उसके प्रमुख की भूमिका की जांच कर रही है।

जाति-धर्म से ऊपर उठकर लोगों ने पेश की इंसानियत की मिसाल

दरअसल CAA के विरोध में भीम आर्मी ने 23 फरवरी को दिल्ली बंद का ऐलान किया था। बंद के दौरान भीम आर्मी समर्थक कई जगह झंडे लेकर भड़काऊ नारे लगाते हुए भी देखे गए थे। ऐसे में भीम आर्मी के भारत बंद के दिन ही दंगा क्यों भड़का? इस पर सवाल बना हुआ है। जिसकी दिल्ली पुलिस की कई यूनिट जांच कर रही हैं।

ताहिर हुसैन के खिलाफ जांच में जुटी दिल्ली पुलिस

Tahir hussain aap

इस हिंसा में दंगाइयों ने इंटेलिजेंस ब्यूरो के हेड कांस्टेबल अंकित शर्मा की भी हत्या की। अंकित शर्मा के परिवार ने हत्या का आरोप आम आदमी पार्टी के दिल्ली नगर निगम पार्षद ताहिर हुसैन पर लगाया है। इसके बाद आम आदमी पार्टी ने ताहिर हुसैन को पार्टी से निलंबित कर दिया है। दिल्ली पुलिस को ताहिर के घर की छत से पेट्रोल बम, गुलेल और बड़ी संख्या में एसिड की बोतलें बरामद हुई हैं। दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने कहा हम ताहिर हुसैन के खिलाफ कार्यवाई कर रहे हैं। हम हर पीड़ित को न्याय दिलाने की कोशिश में जुटे हैं।