उत्तराखण्ड: बढ़ते संक्रमण के चलते देहरादून आने वालों पर प्रशासन हुआ सख्त, जारी किया नया आदेश

Spread the love

उत्तराखण्ड में कोरोना संक्रमण गंभीर स्थिति में पहुंच गया है। समय के साथ साथ संक्रमण भी तेजी से बढ़ता जा रहा है। जिससे प्रशासन की मुसीबतें और बढ़ गई हैं। पिछले कुछ दिनों से प्रदेश में 24 घंटे के भीतर मिलने वाले मरीजों की संख्या अब एक हजार से अधिक हो गई है। वहीं प्रदेश में सबसे बुरे हाल राजधानी देहरादून के हैं। यहां पिछले करीब 2 हफ्तों से प्रतिदिन 200 से अधिक संक्रमित मिल रहे थे। लेकिन 13 सितंबर को यहां रिकॉर्ड 623 केस दर्ज किए गए। बढ़ते संक्रमण को देखते हुए अब देहरादून प्रशासन जिले में आने वालों पर सख्त हो गया है। जिसके बाद देहरादून जिलाधिकारी ने मंगलवार, 15 सितंबर से प्रदेश में नया नियम लागू कर दिया है।

इसे भी पढ़े: दूसरे राज्यों से उत्तराखण्ड आने वालों के लिए सरकार का नया आदेश जारी

कोरोना टेस्ट अनिवार्य

दरअसल बीते कुछ समय से राजधानी देहरादून में सबसे अधिक संक्रमित पाए जा रहे हैं। प्रदेश में अभी तक सबसे अधिक मरीज देहरादून में सामने आए हैं। वहीं सबसे अधिक मौतें और एक्टिव मरीज भी राजधानी में हैं। बिगड़ते हालात देखते हुए अब देहरादून प्रशासन ने देहरादून आने वालों के लिए कोरोना टेस्ट अनिवार्य कर दिया है। जिलाधिकारी अशोक कुमार श्रीवास्तव ने इसका ऐलान करते हुए कहा है कि मंगलवार से बिना कोरोना टेस्ट रिपोर्ट के जिले में किसी को प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इसे देखते हुए एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस अड्डों और जिले की सीमा पर टेस्टिंग बूथ तैयार किए गए हैं।

इसे भी पढ़े: उत्तराखण्ड आने से पहले ऐसे करे स्मार्ट सिटी वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन

कितने समय में मिलेगी रिपोर्ट?

नए आदेश के आधार पर तैयार किए गए टेस्टिंग बूथ में उन लोगों का कोरोना टेस्ट किया जाएगा, जिन लोगों के पास आईसीएमआर द्वारा प्रमाणित कोरोना टेस्ट रिपोर्ट ना हो। कोरोना टेस्ट रिपोर्ट भी 96 घंटे के भीतर की होनी चाहिए। अन्य लोगों का बूथ पर शुल्क लेने के बाद कोरोना टेस्ट किया जाएगा। इसमें एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट 10 से 15 मिनट में मिल जाएगी। जबकि आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट 24 घंटे बाद मिलेगी।

जांच के बाद यदि रिपोर्ट नेगेटिव आती है तो जिले में प्रवेश करने दिया जाएगा। लेकिन रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर कोरोना गाइडलाइन का पालन किया जाएगा। इसके साथ ही जिले में प्रवेश करने के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करना होगा।