लॉकडाउन खत्म होने की ताक में बैठे हजारों मजदूर पहुंचें बांद्रा स्टेशन, पुलिस ने की लाठीचार्ज, मामले में एक गिरफ्तार

Spread the love

देश में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में काफी तेजी देखने को मिल रही है। इस कोरोना संकट को रोकने के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने 14 अप्रैल को खत्म होने वाले लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने का ऐलान किया। लेकिन लॉकडाउन का यह नियम तब तार-तार हो गया, जब मुंबई के बांद्रा रेलवे स्टेशन पर हजारों की तादाद में प्रवासी मजदूर अपने घर लौटने के लिए पहुंच गए। उत्तरी भारत के ये मजदूर 24 मार्च को लगाए गए लॉक डाउन के दौरान मुंबई में फंस गए थे। इस उम्मीद में कि 14 अप्रैल को लॉक डाउन खत्म हो जाएगा और हम अपने घर निकल जाएंगे वो बांद्रा पहुंचे, तो बढ़ती भीड़ के कारण वहां भगदड़ मच गई। जिसके बाद भीड़ को नियंत्रण में लाने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज किया।

भीड़ इकट्ठे होने के मामले में एक शख्स गिरफ्तार

वहीं मुंबई पुलिस ने प्रवासी मजदूरों की इस भीड़ के इकट्ठा होने के मामले में विनय दुबे नाम के शख्स को गिरफ्तार कर लिया है। इस शख्स पर भीड़ को गुमराह करने का आरोप है। बताया जा रहा है कि विनय दुबे ‘चलो घर की ओर‘ कैंपेन चला रहा था। अपने फेसबुक एकाउंट पर शेयर किए गए पोस्ट में उसने टीम के बांद्रा में होने की बात कही थी। इसके अलावा मामले में 1000 लोगों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज है।

यह भी पढ़े : कोरोना के बढ़ते संकट में किंग खान ने फिर दिखाई दरियादिली, डॉक्टरों की मदद के लिए आए आगे

गृह मंत्री अमित शाह ने सीएम को फोन कर जताई चिंता

घटना पर ग्रह मंत्री अमित शाह ने भी चिंता जताई है। इस संबंध में उन्होंने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से फोन पर बात की। सीएम उद्धव ठाकरे ने गृह मंत्री को आश्वस्त किया कि सरकार उन मजदूरों का इंतजाम करेगी। उन्हें चिंता करने की जरूरत नहीं है।