कोरोना साइंटिस्ट का बड़ा खुलासा, बोली – चीन छोड़कर भागना पड़ा अमेरिका, वरना मुझे भी मार देते

Chinese scientist left China else they killed me
Spread the love

चीन की एक प्रमुख कोरोना साइंटिस्ट ने बड़ा खुलासा करते हुए बताया है कि चीन ने दुनियां को कोरोना वायरस के बारे में काफी देर में बताया। जबकि उससे कई पहले चीन को पता चल गया था। उन्होंने बताया कि मैंने एक ऐसी रिसर्च भी कर ली थी, जिससे लोगों की जान बच सकती थी। लेकिन सुपरवाइजर ने मेरी रिसर्च को अनदेखा किया।

इसे भी पढ़ें: पूर्व रॉ ऑफिसर ने सुशांत की मौत पर बताया दाऊद कनेक्शन, बोले – प्लान के मुताबिक हुआ है मर्डर

चीन की इन साइंटिस्ट का नाम ली मेंग यान है। जो अब भागकर अमेरिका चली गई हैं। ली मेंग हॉन्ग कॉन्गस्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ में वायरोलॉजी और इम्यूनोलॉजी की एक्सपर्ट रही हैं। ली ने बताया कि जब वो कैंपस से निकल रही थी तो उन्होंने बहुत सावधानी बरती। वो सेंसर और कैमरों से बचकर वहां से निकली। क्योंकि उन्हें डर था कि अगर वो पकड़ी गई तो उन्हें जेल में डाल सकते थे या फिर गायब किया जा सकता था। ली ने बताया कि उनकी जान को भी खतरा था।

Chinese scientist Li meng yhan

ली मेंग ने अमेरिकी टीवी चैनल फॉक्स न्यूज पर चीनी सरकार पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि चीन की सरकार उन्हें चुप कराने की कोशिश की जा रही है। उन पर साइबर अटैक करवाए जा रहे हैं। डर के कारण उन्हें छुप कर रहना पड़ रहा है। उन्हें अपनी जिंदगी खतरे में। महसूस हो रही है। उन्होंने बताया कि ये सब अगर वो चीन में बोलती तो उन्हें अभी तक मार दिया जाता।

इसे भी पढ़ें: Vikas Dubey Encounter : कानपुर का बदमाश विकास दुबे ढेर, हथियार छीनकर कर रहा था भागने की कोशिश

 

ली मेंग का दावा है कि वह उन चुनिंदा साइंटिस्ट में से एक थीं, जिन्होंने कोरोना वायरस पर सबसे पहले स्टडी की थी। लेकिन चीनी सरकार द्वारा दिसंबर 2019 में रिसर्च करने से रोक दिया गया था। इसके बाद उन्होंने अपने करीबियों से जानकारी इकट्ठा कर स्टडी की।

Li meng yhan

ली मेंग यान हांगकांग की हैं, लेकिन वह चीन में पली बढ़ी हैं। ली के अनुसार उन्हें चीन के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के साइंटिस्ट ने 31 दिसंबर 2019 को बताया था कि कोरोना इंसानों से इंसानों में फैल सकता है। लेकिन तब तक चीन ने ये बात दुनियां को नहीं बताई थी। चीन में मरीज बढ़ने लगे थे। कई मरीजों की जांच और इलाज समय पर नहीं किया जा रहा था। लेकिन हम इसके बारे में बात नहीं कर सकते थे। ली ने बताया कि मेरे सुपरवाइजर ने भी चुप रहने को कहा था, क्योंकि उन्हें गायब करने की धमकी मिलने लगी थी।