सावधान: उत्तराखंड में भी बर्ड फ्लू ने दी दस्तक, इन राज्यो में अलर्ट जारी

Spread the love

देश में बर्ड फ्लू के दस्तक देने के बाद उत्तराखंड राज्य भी बर्ड फ्लू की चपेट में आ गया है। उत्तराखंड में भी पिछले कुछ दिनों से जगह जगह पर पक्षियों के मरने की खबर सामने आ रही है। केंद्र सरकार ने उत्तराखंड में बर्ड फ्लू के केस मिलने की पुष्टि की है। उत्तराखंड के साथ साथ दिल्ली महाराष्ट्र जैसे राज्यो में भी बर्ड फ्लू की पुष्टि की जा चुकी है। पिछले कुछ दिनों में देहरादून में 200 से भी अधिक कोवे मरे हुए मिले है। बताया गया कि राजधानी के भंडारीबाग क्षेत्र में मास लेवल पर सैकड़ों कौवे मरे हुए पाए गए। कई कौवे अब भी बीमारी की हालत में हैं और लगातार मर रहे हैं। देहरादून के अलावा ऋषिकेश, कोटद्वार,डोईवाला, रायवाला से भी कौवो कर मरने की खबरें सामने आ रही है।

इसे भी पढ़े: Mirzapur season 3: क्या मुन्ना और कालीन भैया वास्तव में भाई हैं – पिता और पुत्र नहीं?

बर्ड फ्लू के लक्षण

बर्ड फ्लू के संक्रमण के लक्षण कुछ दिन में दिखाई देते हैं। इससे इस वयारस का प्रभाव कोविड की अपेक्षा जल्दी दिखने लगता है। आइए जानते है कि आखिर वह कौन कौन से लक्षण हैं जिससे यह पहचाना जा सके कि कोई व्यक्ति बर्ड फ्लू वायरस से संक्रमित है या नहीं।

  • सांस लेने में परेशानी होना
  • लगातार खांसी होना।
  • कफ का बनना।
  • हमेशा सिर में दर्द बने रहना।
  • हमेशा सिर में दर्द बने रहना।
  • उल्टी होना या उल्टी होने का एहसाह होना।
  • तेज बुखार होना। शरीर का का अकड़ना।
  • थकान और शरीर में दर्द महसूस होना।
  • पेट लगातार दर्द होना।
इसे भी पढ़े: क्या है WhatsApp की नई पॉलिसी, एक्सेप्ट करने से पहले जरूर समझ लें

बर्ड फ्लू से बचने के उपाय

पॉल्ट्री विशेषज्ञों के मुताबिक वायरस का मारने के लिए अंडे या चिकन को अच्छी तरह से पकाया जाए। अंडे को सफेदी और योक को पूरा पकने तक उबाला जाए। अंडे को कम से कम 165 डिग्री तापमान पर उबालना चाहिए, तभी वायरस मरता है। कच्चे अड्डे या चिकन को छूने के बाद हाथ गर्म पानी व साबुन से कम से कम 20 सेकंड तक धोएं। आधे पके अंडे या चिकन का सेवन न करें। रिसर्च में सामने आया है कि बर्ड फ्लू से संक्रमित अंडे या चिकन अच्‍छी तरह से पकाने से बर्ड फ्लू का वायरस मर जाता है। अंडे को उबालने और चिकन को पकाने वाले बर्तन को भी अच्छी तरह से धोएं। हो सके तो उसे अलग ही रखें।

  • घर में पालतू पक्षियों को न रखें
  • मौजूदा समय में खुले बाजार या छोटी जगहों से मांस की खरीदारी न करें।
  • संक्रमण से बचने के लिए हाथों को लगातार धोते और सेनेटाइज करते रहें।
  • पक्षियों के संपर्क में आने से बचें।
  • बर्ड फ्लू वायरस का प्रभाव दिखने पर 48 घंटे के अंदर डाक्टरी सलाह पर तुरंत दवा लें।