देश में बर्ड फ्लू ने दी दस्तक,जाने क्या है लक्षण और बचने के उपाय

Spread the love

देश में अभी कोरोना वायरस का खतरा पूरी तरह से खत्म भी नहीं हुआ है कि अब देश में अब एक और बीमारी बर्ड फ्लू फैलने की आशंका जताई जा रही है। भारत के कई राज्यों में तेजी बर्ड फ्लू के वायरस H5N1 फैलने की जानकारी आ रही है। जिसने एक बार फिर सरकार की चिंता को बढ़ा दिया है। देश में फिर से बर्ड फ्लू के अटैक को लेकर राज्य सरकार सतर्क हैं और इसको लेकर अलर्ट भी जारी किया है। भारत ही नहीं बर्ड फ्लू वायरस ने यूरोप के कई देशो में अपना कहर बरपाना शुरू कर दिया है जिसे देखते हुए भारत सरकार भी पूरी तरह से सचेत हो गई है। हम अभी तक कोविड-19 के संक्रमण से बुरी तरह परेशान हैं और अब ऐसे में नई बीमारी बर्ड फ्लू ने हमें चिंता से घेर लिया है। बर्ड फ्लू एक तरह का इन्फ्लूएंजा वायरस है। जिसके फैलने की सबसे बड़ी वजह है पक्षी। यहां जानें शरीर में इस बीमारी के क्‍या लक्षण दिखाई देते हैं।

इसे भी पढ़े: सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी : यूपी की टीम ने जारी की खिलाड़ियों की लिस्ट, जाने सुरेश रैना खेलेंगे या नहीं

बर्ड फ्लू के लक्षण

बर्ड फ्लू के संक्रमण के लक्षण कुछ दिन में दिखाई देते हैं। इससे इस वयारस का प्रभाव कोविड की अपेक्षा जल्दी दिखने लगता है। आइए जानते है कि आखिर वह कौन कौन से लक्षण हैं जिससे यह पहचाना जा सके कि कोई व्यक्ति बर्ड फ्लू वायरस से संक्रमित है या नहीं।

  • सांस लेने में परेशानी होना
  • लगातार खांसी होना।
  • कफ का बनना।
  • हमेशा सिर में दर्द बने रहना।
  • हमेशा सिर में दर्द बने रहना।
  • उल्टी होना या उल्टी होने का एहसाह होना।
  • तेज बुखार होना। शरीर का का अकड़ना।
  • थकान और शरीर में दर्द महसूस होना।
  • पेट लगातार दर्द होना।
इसे भी पढ़े: कोरोना के नए स्ट्रेन के बाद बढ़ सकती है सख्ती, सरकार ने गाइडलाइन की जारी

बर्ड फ्लू से बचने के उपाय

पॉल्ट्री विशेषज्ञों के मुताबिक वायरस का मारने के लिए अंडे या चिकन को अच्छी तरह से पकाया जाए। अंडे को सफेदी और योक को पूरा पकने तक उबाला जाए। अंडे को कम से कम 165 डिग्री तापमान पर उबालना चाहिए, तभी वायरस मरता है। कच्चे अड्डे या चिकन को छूने के बाद हाथ गर्म पानी व साबुन से कम से कम 20 सेकंड तक धोएं। आधे पके अंडे या चिकन का सेवन न करें। रिसर्च में सामने आया है कि बर्ड फ्लू से संक्रमित अंडे या चिकन अच्‍छी तरह से पकाने से बर्ड फ्लू का वायरस मर जाता है। अंडे को उबालने और चिकन को पकाने वाले बर्तन को भी अच्छी तरह से धोएं। हो सके तो उसे अलग ही रखें।

  • घर में पालतू पक्षियों को न रखें
  • मौजूदा समय में खुले बाजार या छोटी जगहों से मांस की खरीदारी न करें।
  • संक्रमण से बचने के लिए हाथों को लगातार धोते और सेनेटाइज करते रहें।
  • पक्षियों के संपर्क में आने से बचें।
  • बर्ड फ्लू वायरस का प्रभाव दिखने पर 48 घंटे के अंदर डाक्टरी सलाह पर तुरंत दवा लें।