अटल टनल, दुनिया की सबसे लंबी सुरंग, लेह-लद्दाख की लाइफलाइन बनेगी यह टनल – मोदी

Atal Tunnel
Spread the love

आज शनिवार 3 अक्टूबर का दिन लाहौल घाटी के बाशिंदों के लिए बहुत ही अहम दिन है। आज देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण ‘ अटल टनल’ का लोकार्पण किया। इस दौरान देश के रक्षा मंत्री राजनाथ भी मौजूद थे। अटल टनल दुनिया की सबसे बड़ी सुरंग है, इसकी लंबाई 9.02 किमी है। यह टनल मनाली को लाहौल स्फीति से जोड़ता है। इस सुरंग के कारण मनाली और लेह के बीच के दूरी 46 किमी कम हो जाएगी। इस सुरंग की आधारशिला 26 मई 2020 को रखी गई थी।

इसे भी पढ़े: अब घर बैठे बनाए ड्राइविंग लाइसेंस (DL), जाने कैसे ?

टनल के लोकार्पण के बाद मोदी जी ने अपने संबोधन में कहा कि आज सिर्फ अटल जी का सपना पूरा नहीं हुआ है, बल्कि हिमाचल प्रदेश के करोड़ों लोगों का सपना पूरा हुआ है। मोदी जी ने कहा मेरा सौभाग्य है कि मुझे अटल टनल का लोकार्पण करने का मौका मिला। मोदी जी ने इस टनल को बनाने में अपना पसीना बहाने वाले , मेहनतकश जवानों और मजदूरों को भी दिल से नमन किया। साथ ही मोदी जी ने कहा है कि अटल टनल लेह लद्दाख की लाइफलाइन बनेगी। मोदी जी के अनुसार यह टनल भारत के बॉर्डर को नई ताकत देने वाली है।

इसे भी पढ़े: IPL 2020: BCCI ने जारी की चेतावनी,बायो बबल तोड़ने पर मिलेगी कठोर सजा

क्या है इस टनल की खासियत

  • सुरक्षा के जबरदस्त इंतजाम है।
  • 46 किलोमीटर कम हो जाएगी मनाली और लेह के बीच की दूरी।
  • लाहौल स्फीति और लेह लद्दाख के बीच हर मौसम में आवागमन सुचारू होगा।
  • हर 60 मीटर पर एक अग्निशामक उपलब्ध होगा ।
  • हर 150 मीटर पर टेलीफोन उपलब्ध रहेगा।
  • हर 250 मीटर पर सीसीटीवी कैमरा लगा होगा।
  • हर 500 मीटर पर आपातकालीन निकास सुविधा मौजूद रहेगी।
  • हर 1 किलोमीटर में हवा की गुणवत्ता की निगरानी होगी।
  • 80 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से दौड़ सकेंगे वाहन ।
  • इस टनल से रोजाना 3000 कारे , और 1500 ट्रक आसानी से जा सकते है।
  • घोड़े की नाल जैसा है इसका आकार।