इस शहर में मात्र 26 कोरोना संक्रमित मिलने पर लगा 7 दिन का लॉक डाउन, पढ़े पूरी खबर

Spread the love

देश और दुनिया भर कोरोना वायरस के संक्रमण को 1 साल से भी अधिक का समय बीत चुका है। लेकिन अभी तक कोई भी देश इस बीमारी से अभी तक निजात नही पा सका है। कोरोना वायरस के चलते देश और दुनिया में एक बार फिर से लॉक डाउन लगा हुआ है। दुनिया में कोरोना वायरस के लाखो केस है लेकिन एक ऐसा शहर भी जिसमे मात्र 26 कोरोना वायरस संक्रमण के मामले मिलने पर 7 दिन का लॉक डाउन लगा दिया गया है।

इस शहर में 26 केस में लगा 7 दिन का लॉक डाउन

ऑस्ट्रेलिया के दूसरा सबसे अधिक आबादी वाले राज्य विक्टोरिया की मेलबर्न में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखने के बाद 7 दिनों से सख्त लॉकडाउन का ऐलान किया है। हालांकि इस शहर में अभी तक कोविड-19 के मात्र 26 केस ही पाए गए हैं। इस शहर में करीब 50 लाख लोग रहते हैं, जिनके बाहर निकलने और एक दूसरे पर मिलने पर रोक लगा दी गई है। ऐसे में सवाल उठाए जा रहे हैं कि इतनी बड़ी आबादी में केवल 26 केस पाए जाने के बाद लॉकडाउन लगाना क्या उचित फैसला है?

इसे भी पढ़े : उत्तराखंड बोर्ड: बिना परीक्षा के पास होंगे 10वी के विद्यार्थी, जाने किस आधार पर मिलेंगे अंक

इस सवाल के जवाब में मेलबर्न के प्रशासन का कहना है कि होटल क्वारंटीन के दौरान नियमों का उल्लंघन किया गया है। जिससे कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़े हैं। इतना ही नहीं पॉजिटिव लोगों के अंदर कोविड का अति संक्रामक स्ट्रेन बी1617 पाया गया है। इसके अलावा विक्टोरिया राज्य में कोरोना वायरस वैक्सीनेशन का स्पीड भी काफी धीमी है। ऐसे में रिस्क न लेते हुए तत्काल लोगों की आवाजाही को बंद किया गया है।

इसे भी पढ़े : RCB के 4 खिलाड़ी जिन्हें प्रदर्शन नही बल्कि, विराट कोहली की वजह से मिली टीम इंडिया में जगह

लॉकडाउन के आदेश के बाद आज यानी गुरुवार रात से मेलबर्न में स्कूल, पब और रेस्टोरेंट्स को बंद कर दिया जाएगा। लोगों के एक जगह पर इकट्ठा होने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके अलावा लोगों को सार्वजनिक स्थानों पर मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। नए स्ट्रेन के मिलने के बाद न्यूजीलैंड ने विक्टोरिया से आने वाली फ्लाइट्स पर रोक लगा दी है। इतना ही नहीं, ऑस्ट्रेलिया के दूसरे राज्यों ने भी विक्टोरिया से आने वाले लोगों की निगरानी बढ़ा दी है।