उत्तराखण्ड: श्रीनगर गढ़वाल में एक साथ 57 लोग पॉजिटिव, श्रीनगर-श्रीकोट बाजार 3 दिन तक बंद

Spread the love

Srinagar Garhwal News: उत्तराखण्ड में अनलॉक 4 की गाइडलाइंस लागू होने के बाद कोरोना संक्रमण की रफ्तार बढ़ गई है। अब हर दिन संक्रमितों की संख्या एक नया रिकॉर्ड बना रही है। इसी बीच अब श्रीनगर गढ़वाल में भी तेजी से संक्रमित पाए जाने लगे हैं। अभी पिछले हफ्ते 30 सितंबर को श्रीनगर में एक कांस्टेबल समेत 17 लोगों के संक्रमित होने की खबर आई थी। वहीं अब यहां एक बड़ा कोरोना विस्फोट हो गया है। जिसमें कुछ एसएसबी के जवान समेत 57 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

तहसीलदार श्रीनगर सुनील राज ने इन मामलों की पुष्टि करते हुए बताया कि श्रीनगर के अंदर 57 नए लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन संक्रमितों में एसएसबी केंद्रीयकृत प्रशिक्षण केन्द्र के कुछ जवान भी शामिल हैं। वहीं संक्रमण के खतरे को देखते हुए श्रीनगर कोतवाली को भी बंद कर दिया गया है।

उत्तराखण्ड में हर जिले के कोरोना मरीजों की लिस्ट जानने के लिए क्लिक करें

श्रीनगर, श्रीकोट बाजार तीन दिन तक बंद

वहीं बढ़ते संक्रमण को देखते हुए उपजिलाधिकारी दीपेंद्र सिंह नेगी गुरुवार को ही आदेश जारी कर श्रीनगर और श्रीकोट गंगानाली बाजार को तीन दिन तक बंद रखने का आदेश दे चुके हैं। आदेश के बाद श्रीनगर, श्रीकोट गंगानाली बाजार शुक्रवार, शनिवार और रविवार को बंद रहेंगे। बाजार बंद का फैसला व्यापार सभा के पदाधिकारियों की सहमति के बाद लिया गया। बंद के दौरान बाजार में मेडिकल को दुकानें खुली रहेंगी। वहीं संक्रमितों की संख्या में लगातार हो रही वृद्धि पर काबू पाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा फैसलों पर विचार किया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें: हाई लोड कोरोना संक्रमित शहरों से आ रहे हो उत्तराखण्ड, तो पढ़ लें ये खबर

प्रदेश में 640 पुलिसकर्मी संक्रमित

वहीं अब प्रदेश में एक रिपोर्ट के सामने आने के बाद पता चला है, कि प्रदेश में अभी तक कुल 640 पुलिसकर्मी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। हालांकि ये रिपोर्ट एक हफ्ते पहले जारी की जा चुकी है। अब संक्रमित होने वाले पुलिसकर्मियों की संख्या भी लगातार बढ़ रही है। ये वो पुलिसकर्मी हैं, जो राज्य में कोरोना संक्रमण की रोकथाम में सबसे बड़ी भूमिका निभा रहे हैं।

संक्रमित होने वाले पुलिसकर्मियों में से करीब 150 स्वस्थ होकर फिर से अपनी ड्यूटी पर लौट चुके हैं। वहीं 2 पुलिसकर्मियों की संक्रमण की चपेट में आने के बाद मौत हो गई है। संक्रमण के खतरे के चलते राज्य में करीब 3300 पुलिसकर्मियों को एहतियातन क्वारेंटाइन के लिए रखा जा चुका है। जिसमें से करीब 2700 क्वारेंटाइन की अवधि पूरी कर चुके हैं।