5 भारतीय खिलाड़ी जिनका धोनी के साथ रहा है विवादित रिश्ता, देखे लिस्ट

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
    1
    Share

भारतीय टीम के सर्वश्रेष्ठ कप्तानों में से एक महेंद्र सिंह धोनी का भारतीय टीम के लिए शानदार रिकॉर्ड रहा है। चाहे वह एक कप्तान के तौर पर हो या फिर एक बल्लेबाज के तौर पर। लेकिन भारतीय टीम में कुछ खिलाड़ियों के साथ महेंद्र सिंह धोनी का रिश्ता विवादित भी रहा है। कई मौकों पर इसकी खबरें भी सुनाई दी है। आज इस आर्टिकल में हम ऐसे पांच खिलाड़ियों के बारे में बात करने जा रहे हैं जिनका महेंद्र सिंह धोनी के साथ विवादित रिश्ता रहा है।

1 Virendra Shewag वीरेंद्र सहवाग

भारतीय टीम के विस्फोटक सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग और महेंद्र सिंह धोनी के बीच रिश्तो में खटास की खबरें आना 2007 में ही शुरू हो गई थी। दरअसल 2007 में महेंद्र सिंह धोनी ने T20 वर्ल्ड कप में कप्तानी करते हुए फाइनल मुकाबले में वीरेंद्र सहवाग के स्थान पर यूसुफ पठान को प्लेइंग इलेवन में शामिल कर लिया था। जिसके बाद ऐसी खबरें आई थी कि वीरेंद्र सहवाग को महेंद्र सिंह धोनी ने प्लेइंग इलेवन से बाहर किया है। हालांकि बाद में यह जानकारी मिली थी कि वीरेंद्र सहवाग चोटिल होने के कारण फाइनल मुकाबला नहीं खेले थे

2 Gautam Gambhir गौतम गंभीर

गौतम गंभीर महेंद्र सिंह धोनी के बीच आमतौर पर देखा जाता है कि दोनों ही खिलाड़ियों के बीच सामान्य रिश्ता नहीं है। हालांकि महेंद्र सिंह धोनी ने कभी भी इस पर खुलकर बात नहीं की। लेकिन गौतम गंभीर कई मौकों पर महेंद्र सिंह धोनी को लेकर खुलकर बात करते हैं उन्होंने कई मौकों पर यह भी कहा है कि महेंद्र सिंह धोनी की वजह से लगातार अच्छा प्रदर्शन करने के बावजूद उन्हें टीम से ड्रॉप किया गया और दोबारा उन्हें टीम में शामिल भी नहीं किया गया।

2008 में ऑस्ट्रेलिया में हुई सीबी सीरीज के दौरान धोनी की रोटेशन पॉलिसी से गौतम गंभीर काफी खफा नजर आते थे। उन्होंने कई मौकों पर यह भी कहा है कि रोटेशन पॉलिसी को देखकर मैं आश्चर्य था क्योंकि सभी खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन कर रहे थे तो फिर रोटेशन पॉलिसी लाने का क्या मतलब।

जब भी वर्ल्ड कप जिताने की बात आती है तो गौतम गंभीर महेंद्र सिंह धोनी के छक्का मारने को लेकर हमेशा ही सोशल मीडिया पर आक्रामक नजर आते हैं। उनका कहना है कि सिर्फ एक महेंद्र सिंह धोनी के छक्के ने भारत को वर्ल्ड कप नहीं जिताया था उसमें पूरे 11 खिलाड़ियों का सहयोग था।

3 अजीत आगरकर

भारतीय टीम के अनुभवी तेज गेंदबाज अजित अगरकर उन खिलाड़ियों में से थे जो महेंद्र सिंह धोनी को अपने करियर खत्म होने को लेकर सबसे बड़ा जिम्मेदार मानते थे। अजीत अगरकर ने पहली बार सबसे ज्यादा खुलकर तब कहा था जब दक्षिण अफ्रीका से भारत सीरीज हार गया था। तब उन्होंने एक वेबसाइट में इंटरव्यू देते हुए कहा था कि महेंद्र सिंह धोनी के ऊपर अब चयनकर्ताओं को एक कप्तान और खिलाड़ी के तौर पर करीब से देखना चाहिए। और यदि आगे के मैचों में उनका प्रदर्शन ठीक नहीं रहता है तो उनके विकल्प तलाशने चाहिए।

August 3

4 युवराज सिंह

भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी युवराज सिंह के खास दोस्तों में से एक माने जाते हैं। लेकिन क्रिकेट के मैदान पर कई बार ऐसी खबरें भी आई कि महेंद्र सिंह धोनी और युवराज सिंह के रिश्ते ठीक नहीं है। एक इंटरव्यू के दौरान भी युवराज सिंह ने कहा था कि उन्हें कप्तान का सहयोग नहीं मिला जिस वजह से टीम से वे लगातार अंदर-बाहर होते रहे। युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह तो कई मौकों पर महेंद्र सिंह धोनी की आलोचना करते दिखाई देते ही हैं। लेकिन युवराज सिंह ने भी कहा था कि उन्हें कप्तान का यदि सहयोग मिलता तो वह लंबा खेल सकते थे।

5 इरफान पठान

भारतीय टीम में जब इरफान पठान ने डेब्यू किया था उस वक्त सौरभ गांगुली कप्तान थे। उनकी कप्तानी में इरफान पठान ने शुरुआती तीन -चार साल में शानदार प्रदर्शन किया। पाकिस्तान के बल्लेबाजों को बेहद ही परेशान करते नजर आते थे। लेकिन धोनी की कप्तानी में इरफान पठान को ज्यादा मौके नहीं दिए गए और वे लगातार अंदर-बाहर होते गए। हालांकि इरफान पठान की फॉर्म लगातार खराब रहती थी लेकिन उन्होंने अपने एक बयान में कहा था कि उन्हें महेंद्र सिंह धोनी का सहयोग नहीं मिल पाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.