उत्तराखंड में नहीं थम रहा संक्रमितों का आंकड़ा, टिहरी में मिले चार नए कोरोना पॉजिटिव

Spread the love

उत्तराखंड में भी अब कोरोना संक्रमण तेजी से फैलना शुरू हो गया है। जैसे-जैसे अन्य राज्यों से प्रवासी उत्तराखंड में पहुंच रहे हैं। वैसे-वैसे राज्य में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा तेजी से बढ़ रहा है। बुधवार को राज्य में कोरोना के 15 नए मामले सामने आए। जिसके बाद राज्य में संक्रमितों की संख्या 126 जा पहुंची। पिछले कुछ दिनों से राज्य में महामारी के चलते हालात बिगड़ने शुरू हो गए हैं। जिससे प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग की मुसीबतें और बढ़ गई हैं। बीते एक हफ्ते में राज्य में 54 नए कोरोना पॉजिटिव सामने आए। 13 मई की शाम तक राज्य में 72 संक्रमित थे, लेकिन 20 मई की शाम को यह आंकड़ा उछलकर 126 तक आ पहुंचा है। हालांकि इनमें से 53 मरीज स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। वहीं राज्य में अभी भी बड़ी संख्या में प्रवासियों का पहुंचना बाकी है। जिससे हालात और भी बिगड़ सकते हैं।

20 मई को इन जिलों में मिले नए केस

बुधवार 20 मई को राज्य के अलग अलग जिलों से कोरोना के कुल 14 नए मामले सामने आए। अल्मोड़ा और हरिद्वार में एक-एक, नैनीताल और उत्तरकाशी में दो-दो तथा उधम सिंह नगर और टिहरी जिले में चार-चार नए कोरोना संक्रमित पाए गए। दो दिन पहले ही ऑरेंज से ग्रीन जोन में आए हरिद्वार में 32 दिन बाद आठवां कोरोना पॉजिटिव मिला है। वहीं दो दिन पहले तक बिना कोई पॉजिटिव के साथ ग्रीन जोन वाले टिहरी गढ़वाल में दो दिन में पांच मामले सामने आए हैं। बुधवार को टिहरी के भिलंगना ब्लॉक में चार नए पॉजिटिव मिलने पर स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि ये चारों संक्रमित मुंबई से राज्य में पहुंचे थे। संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की तलाश जारी है।

ये जिले हैं कोरोना फ्री

उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में कोरोना वायरस तेजी से फैलने लगा है। लेकिन वहीं राज्य के तीन जिलों में अभी कोई भी कोरोना संक्रमित नहीं पाया गया है। ये जिले रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़ और चंपावत हैं। बुधवार शाम तक राज्य में कुल 126 संक्रमित पाए जा चुके हैं। जिनमें से 53 लोग रिकवर हो चुके हैं। वहीं एक संक्रमित महिला की मौत भी हो गई थी। हालांकि संक्रमित की मौत की वजह ब्रेन हेमरेज बीमारी रही थी।

प्रवासियों को सीमा पर किया जाए क्वारंटाइन : हाई कोर्ट

वहीं राज्य में कोरोना संक्रमितों के आंकड़े को देखते हुए हाई कोर्ट ने उत्तराखंड के प्रवासियों को लेकर बड़ा आदेश दिया। हाई कोर्ट ने कहा कि रेड जोन से उत्तराखंड आने वाले प्रवासियों को आवश्यक रूप से बॉर्डर पर ही संस्थागत क्वारंटाइन किया जाए। साथ ही कोर्ट ने कहा कि कोरोना टेस्ट भी आवश्यक रूप से हों। और रिपोर्ट नेगेटिव आने पर ही प्रवासियों को घर भेजा जाए।